उप्रः दुष्कर्म पीड़िता ने फांसी लगा आत्महत्या की

बांदा: उत्तर प्रदेश में चित्रकूट जिले के पहाड़ी थाना के सालिकपुर गांव में मंगलवार की रात एक दुष्कर्म पीड़िता ने पुलिस द्वारा मुकदमा न लिखे जाने से क्षुब्ध होकर फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पुलिस ने उसकी मौत के बाद मुकदमा दर्ज किया है।




एक अक्टूबर को सालिकपुर गांव की 32 साल की महिला के साथ गांव के मतगंजन ने दुष्कर्म की घटना कारित की थी। पीड़िता की सूचना के बाद भी पहाड़ी पुलिस जांच के बहाने टरकाती रही है, प्राथमिकी न दर्ज होने से क्षुब्ध होकर पीड़िता ने मंगलवार की रात अपने घर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। पीड़िता की मौत की सूचना पर पुलिस ने आनन-फानन उसके पति को थाने बुलाकर आरोपी के खिलाफ बलात्कार और आत्महत्या के लिए बाध्य करने का अभियोग दर्ज किया है।

मृतका के पति रामशरण ने बुधवार को बताया कि ‘वह घटना के दिन ही पत्नी के साथ थाने गया था। लेकिन, तहरीर लेकर पुलिस ने जांच के बाद मुकदमा दर्ज करने की बात कह कर वापस कर दिया था, इसी से क्षुब्ध होकर पत्नी ने आत्महत्या कर ली।’

पुलिस अधीक्षक चित्रकूट केशव कुमार चैधरी ने बुधवार को बताया कि ‘रामशरण की तहरीर पर आरोपी मतगंजन के खिलाफ दुष्कर्म की धारा-376 और आत्महत्या के लिए बाध्य करने की धारा-306 आईपीसी के तहत मामला दर्ज कर लिया गया।’ उधर, थानाध्यक्ष पहाड़ी रामेन्द्र तिवारी का कहना है कि ‘दुष्कर्म किए जाने की तहरीर मिली थी, लेकिन दोनों पक्ष आपसी सुलह-समझौते पर जुटे थे।’

बांदा से आर जयन की रिपोर्ट