उत्तर प्रदेश: गोरखपुर में सैकड़ों चमगादड़ों की मौत से दहशत व्याप्त

death of hundreds of bats
उत्तर प्रदेश: गोरखपुर में सैकड़ों चमगादड़ों की मौत से दहशत व्याप्त

लखनऊ। गोरखपुर के ग्रामीण क्षेत्र खजनी रेंज के बेलघाट गांव स्थित एक बाग में 300 से अधिक संख्या में चमगादड़ मृत पाए गए। अचानक बड़ी संख्या में चमगादड़ों की मौत से ग्रामीणों में दहशत की स्थिति है। हालांकि चमगादड़ों के मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। वन विभाग प्रथम दृष्टया इनके मौत का कारण अचानक बढ़ी गर्मी व पानी की कमी बता रहा है।

Uttar Pradesh Panic Spread Over Death Of Hundreds Of Bats In Gorakhpur :

बेलघाट स्थित ध्रुव नारायण शाही के बाग में सुबह बड़े पैमाने पर चमगादड़ मृत देखे गए। थोड़ी देर में मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। कोरोना संक्रमण को लेकर ग्रामीणों चमगादड़ से दहशत भी है। सुबह करीब 11 बजे सूचना मिलने के बाद खजनी रेंजर देवेंद्र कुमार भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने सभी मृत चमगादड़ों को एकत्रित करके वह उन्हें पोस्टमार्टम के लिए लेकर जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मौत का कारण अभी पूरी तरह स्पष्ट नहीं हो पा रहा है। अचानक गर्मी बढऩे के चलते ऐसा हो सकता है। उनका कहना है कि इर्द-गिर्द के सभी तालाब सूखे हुए हैं। पानी की तलाश में चमगादड़ इधर-उधर भटक रहे हैं। पानी न मिलने और ऊपर से बेतहाशा गर्मी के कारण चमगादड़ों की मौत हो गई होगी। बताया जाता है कि चमगादड़ उससे थोड़ी दूरी पर स्थित रोहित शाही के पेड़ पर रहते थे।

सोमवार दोपहर करीब दो बजे भी कुछ चमगादड़ मृत संख्या में देखे गए थे। डीएफओ अविनाश कुमार का कहना है कि चमगादड़ों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट रूप से कुछ बताया जा सकता है।
मृत पाए गए चमगादड़ों में से तीन के शव सुरक्षित जार में रखकर उसे पोस्टमार्टम के लिए बरेली भेजा जाएगा। पशुचिकित्साधिकारी बेलघाट चमगादड़ों को जार में रखने की तैयारी कर रहे हैं। इसके लिए वह अपने उच्चाधिकारियों से भी राय ले रहे हैं।

लखनऊ। गोरखपुर के ग्रामीण क्षेत्र खजनी रेंज के बेलघाट गांव स्थित एक बाग में 300 से अधिक संख्या में चमगादड़ मृत पाए गए। अचानक बड़ी संख्या में चमगादड़ों की मौत से ग्रामीणों में दहशत की स्थिति है। हालांकि चमगादड़ों के मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। वन विभाग प्रथम दृष्टया इनके मौत का कारण अचानक बढ़ी गर्मी व पानी की कमी बता रहा है। बेलघाट स्थित ध्रुव नारायण शाही के बाग में सुबह बड़े पैमाने पर चमगादड़ मृत देखे गए। थोड़ी देर में मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। कोरोना संक्रमण को लेकर ग्रामीणों चमगादड़ से दहशत भी है। सुबह करीब 11 बजे सूचना मिलने के बाद खजनी रेंजर देवेंद्र कुमार भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने सभी मृत चमगादड़ों को एकत्रित करके वह उन्हें पोस्टमार्टम के लिए लेकर जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मौत का कारण अभी पूरी तरह स्पष्ट नहीं हो पा रहा है। अचानक गर्मी बढऩे के चलते ऐसा हो सकता है। उनका कहना है कि इर्द-गिर्द के सभी तालाब सूखे हुए हैं। पानी की तलाश में चमगादड़ इधर-उधर भटक रहे हैं। पानी न मिलने और ऊपर से बेतहाशा गर्मी के कारण चमगादड़ों की मौत हो गई होगी। बताया जाता है कि चमगादड़ उससे थोड़ी दूरी पर स्थित रोहित शाही के पेड़ पर रहते थे। सोमवार दोपहर करीब दो बजे भी कुछ चमगादड़ मृत संख्या में देखे गए थे। डीएफओ अविनाश कुमार का कहना है कि चमगादड़ों को पोस्टमार्टम के लिए भेजा जा रहा है। रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट रूप से कुछ बताया जा सकता है। मृत पाए गए चमगादड़ों में से तीन के शव सुरक्षित जार में रखकर उसे पोस्टमार्टम के लिए बरेली भेजा जाएगा। पशुचिकित्साधिकारी बेलघाट चमगादड़ों को जार में रखने की तैयारी कर रहे हैं। इसके लिए वह अपने उच्चाधिकारियों से भी राय ले रहे हैं।