उत्तर प्रदेश: एक्सप्रेस-वे पर सड़क हादसा, इंस्पेक्टर सहित दो की मौत

inspecter samarjeet singh
उत्तर प्रदेश: एक्सप्रेस-वे पर सड़क हादसा, इंस्पेक्टर सहित दो की मौत

लखनऊ। लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर शुक्रवार को हुए एक दर्दनाक सड़क हादसे में सहारनपुर की क्राइम ब्रांच में तैनात इंस्पेक्टर समरजीत सिंह की मौत हो गई। हादसे में उनके ससुर ने भी दम तोड़ दिया। कार में सवार चार अन्य लोग मामूली रूप से घायल हैं। बताया जा रहा है कि इंस्पेक्टर गाजियाबाद से बिहार के सीवान स्थित अपनी ससुराल जा रहे थे। कार में उनके साथ उनके ससुर कमलेश सिंह तथा चार अन्य लोग थे। इटावा के सैफई थाना क्षेत्र के अंतर्गत चैनल नंबर 108 पर उनकी कार अचानक अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकराकर पलट गई। कार में छह लोग सवार थे। हादसे में चार लोग सुरक्षित बच गए।

Uttar Pradesh Road Accident On Expressway Two Including Inspector Died :

पुलिस के मुताबिक इंस्पेक्टर समरजीत सिंह (53) शुक्रवार को अपने ससुर कमलेश सिंह (77), दो बेटों मानवेंद्र सिंह (26), सरवेंद्र सिंह (24), साले राजीव सिंह (35) व साले के पुत्र जीत सिंह (11) के साथ कार से गाजियाबाद से सीवान जा रहे थे। सैफई थाना क्षेत्र के चैनल नंबर 108 पर इनकी कार अचानक अनियंत्रित हो गई और डिवाइडर से टकराकर पलट गई। कार के पलटते ही सभी लोग उसमें फंस गए। आसपास के ग्रामीण मौके पर पहुंचे और कार में फंसे सभी लोगों को बाहर निकालकर यूपीडा की एंबुलेंस को बुलवाया गया।

घायलों को सैफई मेडिकल विश्वविद्यालय में भर्ती कराया गया। जहां पर समरजीत सिंह व कमलेश सिंह की मौत हो गई। चार अन्य घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनकी हालत बेहतर बताई जा रही है। समरजीत सिंह मूल रूप से गोरखपुर के पटनाघाट थाना बड़हलगंज के मूल निवासी हैं, गाजियाबाद में 101/313 ज्ञानखंड इंदिरापुरम में परिवार के साथ रहते थे। वह बिहार स्थित अपनी ससुराल ग्राम नरेंद्रपुर थाना आंदर जनपद सीवान जा रहे थे।

एसएसपी आकाश तोमर ने बताया कि समरजीत सिंह क्राइम ब्रांच सहारनपुर में तैनात हैं। पांच दिन की छुट्टी लेकर वे गाजियाबाद से सीवान अपनी ससुराल जा रहे थे। कार को उनका बेटा मानवेंद्र चला रहा था। समरजीत सिंह उनके साथ बगल की सीट पर बैठे थे। इनकी कार अनियंत्रित हो गई और डिवाइडर से टकरा गई। सूचना मिलने पर एसएसपी आकाश तोमर, अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ओमवीर सिंह, सीओ चंद्रपाल सिंह, एसडीएम हेम सिंह, थाना प्रभारी चंद्रदेव यादव अस्पताल पहुंचे और घायलों से मुलाकात की।

लखनऊ। लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर शुक्रवार को हुए एक दर्दनाक सड़क हादसे में सहारनपुर की क्राइम ब्रांच में तैनात इंस्पेक्टर समरजीत सिंह की मौत हो गई। हादसे में उनके ससुर ने भी दम तोड़ दिया। कार में सवार चार अन्य लोग मामूली रूप से घायल हैं। बताया जा रहा है कि इंस्पेक्टर गाजियाबाद से बिहार के सीवान स्थित अपनी ससुराल जा रहे थे। कार में उनके साथ उनके ससुर कमलेश सिंह तथा चार अन्य लोग थे। इटावा के सैफई थाना क्षेत्र के अंतर्गत चैनल नंबर 108 पर उनकी कार अचानक अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकराकर पलट गई। कार में छह लोग सवार थे। हादसे में चार लोग सुरक्षित बच गए। पुलिस के मुताबिक इंस्पेक्टर समरजीत सिंह (53) शुक्रवार को अपने ससुर कमलेश सिंह (77), दो बेटों मानवेंद्र सिंह (26), सरवेंद्र सिंह (24), साले राजीव सिंह (35) व साले के पुत्र जीत सिंह (11) के साथ कार से गाजियाबाद से सीवान जा रहे थे। सैफई थाना क्षेत्र के चैनल नंबर 108 पर इनकी कार अचानक अनियंत्रित हो गई और डिवाइडर से टकराकर पलट गई। कार के पलटते ही सभी लोग उसमें फंस गए। आसपास के ग्रामीण मौके पर पहुंचे और कार में फंसे सभी लोगों को बाहर निकालकर यूपीडा की एंबुलेंस को बुलवाया गया। घायलों को सैफई मेडिकल विश्वविद्यालय में भर्ती कराया गया। जहां पर समरजीत सिंह व कमलेश सिंह की मौत हो गई। चार अन्य घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनकी हालत बेहतर बताई जा रही है। समरजीत सिंह मूल रूप से गोरखपुर के पटनाघाट थाना बड़हलगंज के मूल निवासी हैं, गाजियाबाद में 101/313 ज्ञानखंड इंदिरापुरम में परिवार के साथ रहते थे। वह बिहार स्थित अपनी ससुराल ग्राम नरेंद्रपुर थाना आंदर जनपद सीवान जा रहे थे। एसएसपी आकाश तोमर ने बताया कि समरजीत सिंह क्राइम ब्रांच सहारनपुर में तैनात हैं। पांच दिन की छुट्टी लेकर वे गाजियाबाद से सीवान अपनी ससुराल जा रहे थे। कार को उनका बेटा मानवेंद्र चला रहा था। समरजीत सिंह उनके साथ बगल की सीट पर बैठे थे। इनकी कार अनियंत्रित हो गई और डिवाइडर से टकरा गई। सूचना मिलने पर एसएसपी आकाश तोमर, अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण ओमवीर सिंह, सीओ चंद्रपाल सिंह, एसडीएम हेम सिंह, थाना प्रभारी चंद्रदेव यादव अस्पताल पहुंचे और घायलों से मुलाकात की।