1. हिन्दी समाचार
  2. कांवड़ यात्रा को लेकर पुलिस और प्रशासन मुस्तैद, शिवभक्तोंं के लिए बनेगा एप

कांवड़ यात्रा को लेकर पुलिस और प्रशासन मुस्तैद, शिवभक्तोंं के लिए बनेगा एप

Uttar Pradesh Security Meeting For Kanwa Yatra

By पर्दाफाश समूह 
Updated Date

लखनऊ। 17 जुलाई से शुरू हो रही कांवड़ यात्रा की निगरानी में एटीएस के साथ एनएसजी के जवान भी तैनात रहेंगे। सुरक्षा के चाक चौबंद करने के लिए यूपी समेत छह राज्यों के कंट्रोल रूम आपस में जुड़े रहेंगे। सुरक्षा में हेलीकॉप्टर और ड्रोन भी लगाए जाएंगे।

पढ़ें :- 24 अक्टूबर का राशिफल: वृश्चिक राशि वालों की आर्थिक स्थिति होगी मजबूत, जानिए बाकी राशिफल का हाल

कांवड़ यात्रा को लेकर रविवार को एक्सपो मार्ट में प्रदेश के मुख्य सचिव अनूप चंद पाण्डेय और डीजीपी ओपी सिंह ने हरियाणा, उत्तराखंड, राजस्थान, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश के पुलिस और प्रशासनिक अफसरों के साथ बैठक की। बैठक के बाद मुख्य सचिव व डीजीपी ने बताया कि यात्रा के लिए आईबी के अलावा विभिन्न सुरक्षा एजेंसियों से भी मदद ली जाएगी।

कांवड़ यात्रा में आठ हजार जवानों को तैनात किया जाएगा। कांवड़ मार्ग पर हर पांच किलोमीटर के दायरे में यूपी 100 की पीसीआर खड़ी रहेगी। यूपी 100 का रेस्पांस टाइम 23 मिनट से घटाकर 14 मिनट पूरे प्रदेश में किया गया है। कांवड़ यात्रा में यह रेस्पांस टाइम घटाकर दस मिनट किया जाएगा। शिवभक्तों के लिए प्रदेशस्तर पर कांवड़ यात्रा मैनेजमेंट एप तैयार किया गया है। इस एप में शिवभक्तां के लिए शिविर, एंबुलेंस, पुलिस थाने से लेकर सभी प्रकार की सुविधाओं की जानकारी मौजूद रहेगी। इस एप की निगरानी प्रदेशस्तर पर बैठे उच्चाधिकारी करेंगे।

प्रदेश के मुख्य सचिव और डीजीपी ने प्रयागराज में कुंभ के सफल आयोजन के बाद अब कांवड़ यात्रा भी शांतिपूर्वक संपन्न कराई जाएगी। कांवड़ मार्ग पर एनएचएआई और लोक निर्माण विभाग से पैच वर्क पूरा करने के लिए कहा गया है। मध्य गंग नहर की पटरियों पर भी मरम्मत कार्य जल्द पूरा हो जाएगा। विद्युत निगम सड़क पर खुले में रखे ट्रांसफार्मर की फेंसिंग करेगा।

मुख्य सचिव और डीजीपी ने बताया कि श्रवण मास के प्रत्येक सोमवार को मंदिरों पर काफी तादात में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती है। इसके मद्देनजर हर जिले के मंदिरों पर विशेष निगरानी के निर्देश पुलिस को दिए गए हैं। इसके अलावा 12 अगस्त को श्रवण मास का आखिर सोमवार है। इस दिन अतिरिक्त सुरक्षा के निर्देश एसएसपी व एसपी को दिए गए हैं।

पढ़ें :- आतंकियों को पनाह देने वाले पाकिस्तान को बड़ा झटका, FATF ने ग्रे लिस्ट में रखा बरकरार

भक्तों की सुरक्षा का भी ख्याल रखा जाएगा। मुख्य सचिव ने बताया कि कांवड़ यात्रा के दौरान दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के पुलिस कंट्रोल रूम को उत्तर प्रदेश के कंट्रोल रूम से जोड़ा जाएगा ताकि कांवड़ यात्रा के दौरान सभी राज्यों की पुलिस में समन्वय रहे। इसके अलावा विशेष तौर पर उत्तराखंड सरकार से भी विस्तार से चर्चा की गई है क्योंकि लाखों की संख्या में शिवभक्त हरिद्वार और गोमुख जाते हैं।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...