1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तराखंड
  3. Uttarakhand Election 2022: कैप्टन की राह पर हरीश रावत! बोले-मेरे हाथ-पैर बांध रखें हैं, अब आराम का समय

Uttarakhand Election 2022: कैप्टन की राह पर हरीश रावत! बोले-मेरे हाथ-पैर बांध रखें हैं, अब आराम का समय

Uttarakhand Election 2022: अंतर्कलह से जूझ रही कांग्रेस (Congress) को उत्तराखंड विधानसभा चुनाव (uttarakhand assembly elections) से पहले बड़ी चुनौती मिल रही है। पूर्व सीएम हरीश रावत (Harish Rawat) ने अब मोर्चा खोल दिया है। चुनाव से पहले उन्होंने पार्टी के नेताओं पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि जिनके आदेश पर मुझे तैरना है, उनके नुमाइंदों ने मेरे हाथ-पांव बांध रखे हैं।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Uttarakhand Election 2022: अंतर्कलह से जूझ रही कांग्रेस (Congress) को उत्तराखंड विधानसभा चुनाव (uttarakhand assembly elections) से पहले बड़ी चुनौती मिल रही है। पूर्व सीएम हरीश रावत (Harish Rawat) ने अब मोर्चा खोल दिया है। चुनाव से पहले उन्होंने पार्टी के नेताओं पर हमला बोला है। उन्होंने कहा कि जिनके आदेश पर मुझे तैरना है, उनके नुमाइंदों ने मेरे हाथ-पांव बांध रखे हैं।

पढ़ें :- नौतनवा:ब्लाक प्रमुख ने आरसीसी सड़क के लिए किया भूमि पूजन

हरीश रावत (Harish Rawat) के इस ट्वीट के बाद उत्तराखंड में फिर से सियासी घटनाक्रम बदलने के संकेत मिल रहे हैं। दरअसल हरीश रावत (Harish Rawat)  ने एक के बाद एक कई ट्वीट किए हैं, जिसके जरिए उन्होंने कई सवाल खड़े किए हैं।

पढ़ें :- BBC Documentary Controversy: दिल्ली से लेकर मुंबई तक बीबीसी डॉक्यूमेंट्री पर हंगामा

ह​रीश रावत (Harish Rawat) ने ट्वीट कर लिखा है कि, है न अजीब सी बात, चुनाव रूपी समुद्र को तैरना है, सहयोग के लिए संगठन का ढांचा अधिकांश स्थानों पर सहयोग का हाथ आगे बढ़ाने के बजाय या तो मुंह फेर करके खड़ा हो जा रहा है या नकारात्मक भूमिका निभा रहा है। जिस समुद्र में तैरना है। सहयोग के लिए संगठन का ढांचा अधिकांश स्थानों पर सहयोग का हाथ आगे बढ़ाने की बजाय या तो मुंह फेर करके खड़ा हो जा रहा है या नकारात्मक भूमिका निभा रहा है।

इसके साथ ही हरीश रावत (Harish Rawat) ने एक अन्य ट्वीट में लिखा है कि, सत्ता ने वहां कई मगरमच्छ छोड़ रखे हैं। जिनके आदेश पर तैरना है, उनके नुमाइंदे मेरे हाथ-पांव बांध रहे हैं। मन में बहुत बार विचार आ रहा है कि हरीश_रावत अब बहुत हो गया, बहुत तैर लिये, अब विश्राम का समय है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...