1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Uttrakhand Assembly Elections 2022 : BJP को लग सकता है बड़ा झटका, हरक सिंह रावत की घर वापसी तय

Uttrakhand Assembly Elections 2022 : BJP को लग सकता है बड़ा झटका, हरक सिंह रावत की घर वापसी तय

Uttrakhand Assembly Elections 2022 : उत्तराखंड विधानसभा चुनाव (Uttrakhand Assembly Elections) से पहले दलित नेता यशपाल आर्य (Yashpal Arya) अपने विधायक बेटे संजीव आर्य (Sanjeev Arya)  बीजेपी (BJP) का दामन छोड़ घर वापसी कर चुके हैं। सूत्रों की मानें इसके बाद इसके बाद हरक सिंह रावत (Harak Singh Rawat) की कांग्रेस में वापसी तय है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Uttrakhand Assembly Elections 2022 : उत्तराखंड विधानसभा चुनाव (Uttrakhand Assembly Elections) से पहले दलित नेता यशपाल आर्य (Yashpal Arya) अपने विधायक बेटे संजीव आर्य (Sanjeev Arya)  बीजेपी (BJP) का दामन छोड़ घर वापसी कर चुके हैं। सूत्रों की मानें इसके बाद इसके बाद हरक सिंह रावत (Harak Singh Rawat) की कांग्रेस में वापसी तय है। अगले दो दिन के अंदर उनको पार्टी में दुबारा शामिल किया जाएगा। हरक सिंह रावत (Harak Singh Rawat) उत्तराखंड के बड़े नेता हैं, जिन्होंने 2016 में कांग्रेस आलाकमान से बगावत कर दी थी और भारतीय जनता पार्टी (Bharatiya Janata Party) में शामिल हो गए थे।

पढ़ें :- केशव का अखिलेश पर बड़ा हमला, बोले- परिवार तो संभल नहीं रहा, देख रहे हैं यूपी सम्भालने का सपना

सूत्रों के मानेे तो उनकी कांग्रेस आलाकमान (Congress High Command) से बातचीत पूरी हो चुकी है। उनके साथ कुछ और नेताओं की कांग्रेस में शामिल होने की भी संभावना है। हरक सिंह रावत (Harak Singh Rawat)  पहली बार 1991 में पौड़ी से चुनकर विधानसभा आए थे।

सूत्रों का कहना है की रावत की उत्तराखंड (Uttrakhand) बीजेपी (BJP) के नेतृत्व से पटरी नहीं बैठ रही थी। उनको हाल फिलहाल वर्कर्स बोर्ड से भी हटा दिया गया था। हरक सिंह रावत (Harak Singh Rawat)  के करियर में कई उतार चढ़ाव आए हैं। साल 2000 के बाद वो सत्ता से हमेशा जुड़े रहे। वह उत्तराखंड (Uttrakhand) में नेता विपक्ष भी रहे। उनको 2002 में एक स्कैंडल के चलते इस्तीफा भी देना पड़ा था।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...