1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. वैक्सीन की किल्लत के कारण टीकाकरण अभियान पड़ सकता है धीमा, राज्यों ने जताई चिंता

वैक्सीन की किल्लत के कारण टीकाकरण अभियान पड़ सकता है धीमा, राज्यों ने जताई चिंता

कोरोना वायरस को हराने के लिए देश में युद्धस्तर पर वैक्सीनेशन अभियान चल रहा है। सोमवार को कोरोनाा नीति में बदलाव करने के पहले दिन ही पुराने ​सभी रिकॉर्ड टूट गए। सोमवार को 85 लाख से ज्यादा लोगों को टीका लगाया गया, लेकिन राज्यों के लिए यह रिकॉर्ड आगे बनाए रखना मुश्किल होगा।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। कोरोना वायरस को हराने के लिए देश में युद्धस्तर पर वैक्सीनेशन अभियान चल रहा है। सोमवार को कोरोनाा नीति में बदलाव करने के पहले दिन ही पुराने ​सभी रिकॉर्ड टूट गए। सोमवार को 85 लाख से ज्यादा लोगों को टीका लगाया गया, लेकिन राज्यों के लिए यह रिकॉर्ड आगे बनाए रखना मुश्किल होगा।

पढ़ें :- सीरो सर्वे में खुलासा, 67.6 फीसदी लोग पॉजिटिव पाए गए

कई राज्यों ने स्वीकार किया कि अगर उन्हें केंद्र सरकार से नियमित वैक्सीन मिलती रहेंगी, तो वे तेजी से टीकाकरण जारी रखेंगे, लेकिन अगर वैक्सीन नहीं मिलती है, तो टीकाकरण अभियान धीमा पड़ सकता है। कोविन पोर्टल पर उपलब्ध राता 12:30 बजे तक के आंकड़ों के अनुसार देश में सोमवार को 85 लाख 15 हजार 765 लोगों को वैक्सीन लगाई गई।

इससे पहले, 5 अप्रैल को 43 लाख से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई गई थी। कोविड टीकाकरण अभियान की इस गति को आगे भी बनाए रखने के लिए आगामी नौ दिन में करीब 7.2 करोड़ वैक्सीन की आवश्यकता होगी, लेकिन कई राज्यों के पास कोरोना वैक्सीन का पर्याप्त स्टॉक नहीं है।

केंद्र सरकार कोविड वैक्सीन खरीदने की प्रक्रिया में है, लेकिन समय पर पर्याप्त टीकों की आपूर्ति हो पाएगी, इस पर राज्यों को संदेह है। बता दें कि, पश्चिम बंगाल, महाराष्ट्र और आंध्र प्रदेश समेत गैर भाजपा शासित राज्य सरकारों ने वैक्सीन की कमी का हवाला देते हुए सभी के लिए मुफ्त टीकाकरण अभियान शुरू नहीं किया, लेकिन यह स्पष्ट था कि केंद्र सरकार और अन्य राज्य सरकारें कोविड टीकाकरण अभियान के नए चरण को सफल बनाना चाहती थीं। हालांकि, इस गति को आगे भी जारी रख पाएंगी, यह वैक्सीन के स्टॉक पर निर्भर करता है।

 

पढ़ें :- केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री बोले- जायडस कैडिला होगी भारत की पहली डीएनए वैक्सीन

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...