1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. सहारनपुर और बागपत में वैक्सीन टोटा, वैक्सीनेशन अभियान प्रभावित

सहारनपुर और बागपत में वैक्सीन टोटा, वैक्सीनेशन अभियान प्रभावित

कोरोना के बढ़ते कहर के बीच कई जगह वैक्सीन खत्म होने की खबर है। मिली जानकारी यूपी के बागपत और सहारनपुर जिलों में वैक्सीन का टोटा पड़ गया है स्टॉक पूरी तरह से खत्म हो गया है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

लखनऊ। कोरोना के बढ़ते कहर के बीच कई जगह वैक्सीन खत्म होने की खबर है। मिली जानकारी यूपी के बागपत और सहारनपुर जिलों में वैक्सीन का टोटा पड़ गया है स्टॉक पूरी तरह से खत्म हो गया है। इसका असर टीकाकरण अभियान पर पड़ा है। कहीं टीकाकरण रुक गया है तो कहीं उसके सत्र कम कर दिए गए हैं।

पढ़ें :- देश में एक बार फिर कोरोना ने मचाया कहर, ढाई लाख के करीब पहुंची संक्रमितों की संख्या

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच जिले में शुक्रवार को कोरोना वैक्सीन का स्टॉक खत्म हो गया। स्वास्थ्य विभाग को टीकाकरण अभियान बीच में रोकना पड़ा। कई केंद्रों पर टीका लगवाने पहुंचे लोगों को मायूस लौटना पड़ा। जिले में शनिवार को सिर्फ जिला अस्पताल में एक सत्र लगाकर टीकाकरण किया जा रहा है।

स्वास्थ्य विभाग के पास अब कोरोना वैक्सीन की महज 100 डोज बची हैं। वैक्सीन कम पड़ने के कारण बड़ौत क्षेत्र में कई केंद्रों पर अपराह्न तीन बजे तक ही टीकाकरण किया गया। स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि शनिवार को वैक्सीन की उपलब्धता के आधार पर जिला अस्पताल में एक ही सत्र लगाकर टीकाकरण किया जा रहा है। वैक्सीन मिलने पर ही सभी केंद्रों पर फिर से टीकाकरण शुरू किया जाएगा।

जानें कब-कब कितनी मिली वैक्सीन ?

जिले में 14 जनवरी को 6180 डोज, 23 जनवरी को पांच हजार डोज, 12 फरवरी को तीन हजार, तीन मार्च को 15 हजार, 15 मार्च को साढ़े नौ हजार, 25 मार्च को पांच हजार, 31 मार्च को दो हजार, एक अप्रैल को 15 हजार, चार अप्रैल को पांच हजार, पांच अप्रैल को ढाई हजार और सात अप्रैल को पांच हजार कोविशील्ड की डोज मिली थीं। इसके अलावा दस फरवरी को 2760 और 15 व 25 मार्च को 15-15 सौ कोवैक्सीन की डोज मिली थीं।

पढ़ें :- Corona Vaccination: 15 से 18 साल के बच्चों के लिए शुरू हुआ वैक्सीनेशन, CM योगी बोले-सरकार सतर्क

ऑनलाइन जनरेट होती है वैक्सीन की डिमांड

कोरोना वैक्सीनेशन का डाटा ऑनलाइन अपलोड किया जाता है। इसी के आधार पर वैक्सीन की डिमांड ऑनलाइन की जाती है। शासन स्तर से उपलब्धता के आधार पर वैक्सीन भिजवाई जाती है।

सीएचसी और पट्टी चौधरान स्थित अर्बन पीएचसी में शुक्रवार को कोरोना वैक्सीन खत्म हो जाने पर लोगों को मायूस लौटना पड़ा। केवल 420 लोगों को ही टीका लगाया जा सका। नगर निवासी बिट्टू गर्ग, अमन, दीपक, संदीप, मोहित ने बताया कि दो-तीन दिनों से टीका लगवाने के लिए चक्कर काट रहे हैं, लेकिन नंबर आते-आते वैक्सीन खत्म हो जाती है। बता दें कि बड़ौत ब्लॉक के अंतर्गत सीएचसी पर 260 और अर्बन पीएचसी पर 160 वैक्सीन आईं थीं। यह स्टॉक खत्म हो गया। लोगों को मायूस होकर लौटना पड़ा।

सहारनपुर जिले के सीएमओ डॉ. आरके टंडन ने बताया कि बीते शुक्रवार को कोरोना वैक्सीन समाप्त हो गई हैं। शनिवार को जिला अस्पताल में एक सत्र लगाया जाएगा। वैक्सीन मिलने पर पूर्व की भांति सभी केंद्रों पर टीकाकरण किया जाएगा।

जनपद में शुक्रवार को कोरोना वैक्सीन कोविशील्ड पूरी तरह खत्म हो गई। कोवैक्सीन बची है, जो दूसरी डोज के लिए बचाकर रखी गई है, और वैक्सीन कब आएगी और कब टीकाकरण पुन: शुरू होगा? यह बताने में अधिकारी असमर्थ हैं।

पढ़ें :- Corona vaccine booster dose: राहुल गांधी ने मोदी सरकार को घेरा, पूछा-कोरोना वैक्सीन की बूस्टर खुराक देना कब शुरू करेंगे?

शुक्रवार नौ अप्रैल तक जिले में एक लाख 37 हजार 498 लोगों को कोरोना वैक्सीन की पहली और दूसरी डोज दी जा चुकी है। सरकार 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों को वैक्सीन का टीका लगाने पर जोर दे रही है। मगर हकीकत यह है कि मंडल मुख्यालय होने के बावजूद जनपद में वैक्सीन खत्म हो चुकी है। बीते तीन दिन से लोग टीकाकरण केंद्रों से लोगों को बिना टीका लगाए लौटाया जा रहा था। शुक्रवार को कोविशील्ड पूरी तरह खत्म हो हो गई।

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. सुनील कुमार वर्मा ने बताया कि जनपद में कोवैक्सीन बची है, जो दूसरी डोज के लिए बचाकर रखी गई है। उन्होंने बताया कि वैक्सीन मंगाने के लिए उच्चाधिकारियों से संपर्क साधा जा रहा है, मगर कोई सार्थक जवाब नहीं मिला है। जैसे ही वैक्सीन आएगी टीकाकरण पुन: शुरू कराया जाएगा। उन्होंने टीका लगवाने के इच्छुक लोगों से थोड़ा धैर्य बनाकर रखने की अपील की है।

निजी चिकित्सालयों में भी कमी

जनपद के 15 निजी अस्पतालों में भी कोरोना वैक्सीन का टीका लगाया जा रहा है। निजी अस्पतालों में टीकाकरण के लिए 250 रुपये निर्धारित हैं। मगर ज्यादातर निजी अस्पतालों में भी वैक्सीन खत्म हो चुकी है। जिनके पास बची है वह दूसरी डोज के लिए बचाकर रखी गई है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...