1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Varanasi : अखिलेश ने महामृत्युंजय मंदिर और बाबा कालभैरव के दरबार में पहुंचे, मांगा जीत का आशीर्वाद

Varanasi : अखिलेश ने महामृत्युंजय मंदिर और बाबा कालभैरव के दरबार में पहुंचे, मांगा जीत का आशीर्वाद

सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav) वाराणसी (Varanasi) में शुक्रवार देर शाम मेगा रोड शो (Mega Road Show) किया। इसके बाद शनिवार सुबह काशी के महामृत्युंजय मंदिर (Mahamrityunjay Temple) और बाबा काल भैरव के दरबार (Baba Kalbhairav's court) में हाजिरी लगाकर यूपी चुनाव (UP Elections) में जीत का आशीर्वाद मांगा। इस दौरान सपा के दक्षिणी प्रत्याशी किशन दीक्षित (SP's southern candidate Kishan Dixit) और बड़ी संख्या में सपा समर्थक व कार्यकर्ता भी उनके साथ मौजूद रहे।

By संतोष सिंह 
Updated Date

वाराणसी। सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav) वाराणसी (Varanasi) में शुक्रवार देर शाम मेगा रोड शो (Mega Road Show) किया। इसके बाद शनिवार सुबह काशी के महामृत्युंजय मंदिर (Mahamrityunjay Temple) और बाबा काल भैरव के दरबार (Baba Kalbhairav’s court) में हाजिरी लगाकर यूपी चुनाव (UP Elections) में जीत का आशीर्वाद मांगा। इस दौरान सपा के दक्षिणी प्रत्याशी किशन दीक्षित (SP’s southern candidate Kishan Dixit) और बड़ी संख्या में सपा समर्थक व कार्यकर्ता भी उनके साथ मौजूद रहे।

पढ़ें :- ओपी राजभर का निशाना, कहा-अखिलेश नहीं चाहते थे शिवपाल उनके साथ आएं 

अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav) ने कालभैरव मंदिर (Baba Kalbhairav Temple) में विधिवत दर्शन-पूजन कर बाबा का आशीर्वाद लिया। इसके बाद अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav)  कालभैरव मंदिर (Kalbhairav Temple) से महामृत्युंजय मंदिर (Mahamrityunjay Temple)  तक पैदल ही गए। उन्होंने दर्शन-पूजन कर बाबा का चरणामृत ग्रहण कर आशीर्वाद लिया। इसके बाद मंदिर परिसर का भ्रमण किया।

सपा कार्यकर्ताओं में अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav)  से मिलने और उनके साथ सेल्फी लेने की होड़ मची थी। सपा प्रमुख ने भी पार्टी के कार्यकर्ताओं का गर्मजोशी से अभिवादन किया। उन्होंने कहा कि यूपी विधानसभा चुनाव 2022(UP Assembly Election 2022) में पूर्ण बहुमत से प्रदेश में सपा की सरकार आने की बात कही। दर्शन-पूजन के बाद अखिलेश यादव सर्किट हाउस की ओर रवाना हो गए।

काशी के कोतवाल कहे जाने वाले बाबा काल भैरव मंदिर (Baba Kalbhairav Temple) की गलियों में अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav)  ने स्थानीय लोगों से मुलाकात भी की। इससे पहले शुक्रवार रात अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav) ने श्री काशी विश्वनाथ मंदिर (Shri Kashi Vishwanath Temple) में दर्शन के लिए पहुंचे थे। उन्होंने विधिवत दर्शन- पूजन कर बाबा से जीत का आशीर्वाद लिया। आज शाम चुनाव प्रचार खत्म होने से पहले अखिलेश पूर्वांचल के अलग-अलग जिलों में जनसभा को संबोधित करेंगे।

समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav)  का काशी में अलग रूप देखने को मिल रहा है। शुक्रवार देर शाम रोड शो के दौरान अखिलेश त्रिशूल और डमरू के साथ लोगों से रूबरू हुए। माना जा रहा है कि इससे सपा हर हाल में हिंदू मतों में सेंधमारी करने की कोशिश करेगी।

पढ़ें :- CM योगी के मंदिर पर अखिलेश का तंज, कहा-दिल्ली से विशेष दस्ता आयेगा या फिर... 

काशी में राजनीतिक पारा सातवें चरण के चुनाव से पहले ही सातवें आसमान पर पहुंच गया है। 54 सीटों पर होने वाले चुनाव में जातीय समीकरण बहुत मायने रखने वाला है। यही कारण है कि जिस पार्टी को जहां मौका मिल रहा है, वह जातीय समीकरण को साधने में लगी हैं। अखिलेश भी इसमें पीछे नहीं हैं। शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने अपने रोड शो के दौरान काशी विश्वनाथ धाम (Kashi Vishwanath Dham) में डमरू बजाया तो वहीं सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav)  ने इसके जवाब में हाथ में बाबा का त्रिशूल और डमरू लेकर काशी की जनता का दिल जीत लिया।

समर्थक भी अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav)   के इस नए अंदाज को देख खुश दिखे। रथयात्रा चौराहे से लेकर निकलकर गिरजाघर तक जाने के दौरान अखिलेश यादव ( Akhilesh Yadav)   ने बीच-बीच में त्रिशूल और डमरू कई बार बाहर निकाला। इस दौरान समर्थक हर-हर महादेव का जयघोष (Har Har Mahadev) करते दिखे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...