पत्नी को पीटकर भेजा मायके, फिर तीन बेटियों के साथ उठाया यह खौफनाक कदम

varanshi
पत्नी को पीटकर भेजा मायके, फिर तीन बेटियों के साथ उठाया यह खौफनाक कदम

वाराणसी। पीएम नरेन्द्र मोदी के सांसदीय क्षेत्र वाराणसी में दिल दहला देने वाली घटना सामने आयी है। यहां एक पिता ने अपने ​तीन बेटियों के साथ जहर खाकर जान दे दी। पुलिस ने जांच पड़ताल किया तो सामने आया कि आर्थिक तंगी के कारण यह कदम उठाया है। हालांकि पुलिस अन्य बिन्दुओं पर भी जांच कर रही है।

Varanasi Father Deepak Gupta Commits Suicide Alongwith Three Daughters :

मृतक दीपक गुप्ता वाराणसी के लक्सा थाने के नई सड़क गीता मंदिर इलाके का रहने वाला था। दीपक गुप्ता अपनी 9 वर्षीय बेटी नव्या, 7 वर्षीय अदिति और 5 वर्षीय रिया के साथ जहर खा लिया। परिजनों को दीपक गुप्ता के जहर खाने की जानकारी मिली, तो उनको आनन—फानन में कबीरचौरा और फिर ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान चारों ने दम तोड़ दिया।

परिजनों के मुताबिक मृतक दीपक गुप्ता के ऊपर कर्ज का बोझ था, जिससे वह परेशान रहता था। हालांकि आस-पड़ोस के कुछ लोग आईपीएल में सट्टेबाजी की बात कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि घटना से पूर्व दीपक ने अपनी पत्नी की पिटाई कर दी थी, जिसके कारण वह अपने मायके चले गयी थी। शुरूआती जांच में यही सामने आया है कि आर्थिक तंगी के कारण दीपक ने यह कदम उठाया है।

मृतक दीपक गुप्ता की भतीजी साक्षी ने बताया कि बुधवार रात चाचा दीपक की तीन बेटियां नव्या, अदिति और रिया बाहर आंगन में सोई हुई थीं। इस दौरान दीपक गुप्ता आए और उनको उठाकर कमरे में ले गए। इसके बाद वो दादी के कमरे में टीवी देखने लगे। कुछ देर बाद सभी तबियत खराब होने लगी थी, जिसके कारण उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गयी।

वाराणसी। पीएम नरेन्द्र मोदी के सांसदीय क्षेत्र वाराणसी में दिल दहला देने वाली घटना सामने आयी है। यहां एक पिता ने अपने ​तीन बेटियों के साथ जहर खाकर जान दे दी। पुलिस ने जांच पड़ताल किया तो सामने आया कि आर्थिक तंगी के कारण यह कदम उठाया है। हालांकि पुलिस अन्य बिन्दुओं पर भी जांच कर रही है। मृतक दीपक गुप्ता वाराणसी के लक्सा थाने के नई सड़क गीता मंदिर इलाके का रहने वाला था। दीपक गुप्ता अपनी 9 वर्षीय बेटी नव्या, 7 वर्षीय अदिति और 5 वर्षीय रिया के साथ जहर खा लिया। परिजनों को दीपक गुप्ता के जहर खाने की जानकारी मिली, तो उनको आनन—फानन में कबीरचौरा और फिर ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया गया, जहां इलाज के दौरान चारों ने दम तोड़ दिया। परिजनों के मुताबिक मृतक दीपक गुप्ता के ऊपर कर्ज का बोझ था, जिससे वह परेशान रहता था। हालांकि आस-पड़ोस के कुछ लोग आईपीएल में सट्टेबाजी की बात कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि घटना से पूर्व दीपक ने अपनी पत्नी की पिटाई कर दी थी, जिसके कारण वह अपने मायके चले गयी थी। शुरूआती जांच में यही सामने आया है कि आर्थिक तंगी के कारण दीपक ने यह कदम उठाया है। मृतक दीपक गुप्ता की भतीजी साक्षी ने बताया कि बुधवार रात चाचा दीपक की तीन बेटियां नव्या, अदिति और रिया बाहर आंगन में सोई हुई थीं। इस दौरान दीपक गुप्ता आए और उनको उठाकर कमरे में ले गए। इसके बाद वो दादी के कमरे में टीवी देखने लगे। कुछ देर बाद सभी तबियत खराब होने लगी थी, जिसके कारण उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गयी।