1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. केंद्र की संवादहीनता पर भड़के वरुण गांधी,बोले- ‘विकास की आत्महत्या’ से व्यथित है देश का हर युवा

केंद्र की संवादहीनता पर भड़के वरुण गांधी,बोले- ‘विकास की आत्महत्या’ से व्यथित है देश का हर युवा

यूपी के पीलीभीत जिले से बीजेपी ( BJP) के सांसद वरुण गांधी (Varun Gandhi) ने रविवार को एक बार फिर ट्विटर पर पार्टी लाइन से हटकर केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) पर सवाल उठाते हुए एक वीडियो शेयर किया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। यूपी के पीलीभीत जिले से बीजेपी ( BJP) के सांसद वरुण गांधी (Varun Gandhi) ने रविवार को एक बार फिर ट्विटर पर पार्टी लाइन से हटकर केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) पर सवाल उठाते हुए एक वीडियो शेयर किया है।

पढ़ें :- जनता को मिलने वाली राहत पर उंगली उठाने से पहले हमें अपने गिरेबां में जरूर झांक लेना चाहिए, मुफ्तखोरी वाले प्रस्ताव पर भड़के Varun Gandhi

वरुण गांधी (Varun Gandhi) ने वीडियो ट्वीट कर कहा कि पहले रोहतक में सचिन और अब फतेहपुर में ‘विकास की आत्महत्या’ से देश का हर युवा व्यथित है। गांधी ने कहा कि मैदान पर 6 वर्षों के मैराथन संघर्ष के बाद महज 4 वर्षों की सेवा छात्र कैसे स्वीकारेंगे?

उन्होंने कहा कि सिर्फ संवादहीनता की वजह से किसान आंदोलन में सैकड़ों जानें गयी, क्या हम फिर वही गलती दोहराना चाहते हैं? बेरोजगारी, महंगाई समेत अन्य मुद्दों पर मुखर होकर वो आवाज उठा रहे हैं। अग्निपथ योजना को लेकर भी वो अपनी सरकार को कटघरे में खड़ा कर रहे हैं। एक के बाद एक सवाल वो अपनी सरकार से कर रहे हैं।

साथ ही पूछा है कि, क्या 4 साल के पश्चात अग्निवीरों का सम्मानजनक पूनर्वास होगा? दरअसल, अग्निपथ योजना को लेकर वरुण गांधी लगातार अपनी सरकार से सवाल पूछ रहे हैं। आज फिर उन्होंने अपनी सरकार पर निशाना साधा है। वरुण गांधी (Varun Gandhi) ने ट्वीट कर लिखा है कि, ‘जब एक नौजवान का सपना मरता है, तो पूरे देश का सपना मरता है। क्या 4 साल के पश्चात अग्निवीरों का सम्मानजनक पुनर्वास होगा? मेरा मानना है कि जब तक समाज के आखिरी व्यक्ति की आवाज न सुनी जाए, तब तक कोई भी कानून का निर्माण न हो।’

उन्होंने कहा कि अग्निपथ योजना को लेकर युवा हमें सोशल मीडिया पर लिख रहे हैं और अपनी चिंता जाहिर कर रहे हैं। इसके साथ ही कहा कि हमारे देश में एक करोड़ से ज्यादा रिक्त पद खाली है। केवल जो पेपर की फीस होती है उससे सरकार 13 सौ करोड़ रुपये सलाना कमाती है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि ये जो एक करोड़ पद खाली हैं इस पर भर्ती की जाए।

पढ़ें :- वरुण गांधी बोले- नमामि गंगे पर 11,000 करोड़ खर्च के बावजूद प्रदूषण क्यों, जवाबदेही किसकी?

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...