1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. वीर सावरकर ने महात्मा गांधी की हत्‍या का रचा था पड्यंत्र, अंग्रेजो से मांगी थी माफी : दिग्विजय सिंह

वीर सावरकर ने महात्मा गांधी की हत्‍या का रचा था पड्यंत्र, अंग्रेजो से मांगी थी माफी : दिग्विजय सिंह

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले मध्य प्रदेश के पूर्व सीएम व कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह फिर चर्चा में हैं। इस बार वह वीर सावरकर पर बयान देकर सुर्खियों में हैं। उन्होंने कहा है कि, वीर सावरकर के जीवन के दो पहलू थे। पहले में उनका जेल से लौटने के बाद आजादी की लड़ाई में भागीदारी करना है, तो दूसरे पहलू में उनका राष्ट्रपिता महात्‍मा गांधी की हत्या में शामिल होना।

दरअसल, महाराष्ट्र चुनाव के लिए जारी घोषणा पत्र में बीजेपी ने कहा है कि उनकी राज्य में सरकार बनती है तो वह वीर सावरकर को भारत रत्न देने के लिए केंद्र को प्रस्ताव भेजेंगे। इस बात से देश की तमाम विपक्षी पार्टियों ने भाजपा पर निशाना साधना शुरू कर दिया है। दूसरी ओर कांग्रेस ने इसको लेकर मोर्चा खोल दिया है। दिग्विजय सिंह ने कहा है कि, सावरकर के जिंदगी के दो पहलू थे। जिसमें पहले पहलू में अंग्रेजों से माफी मांगने के बाद लौटने पर स्वाधीनता संग्राम में उनकी भागीदारी।

दूसरे पहलू में, सावरकर का नाम महात्मा गांधी की हत्या के मामले में साजिश रचने वाले के तौर पर दर्ज किया गया था। दिग्विजय सिंह ने कहा है कि, हमें भूलना नहीं चाहिए कि महात्मा गांधी की हत्या करने वाले षड्यंत्रकारियों की सूची में सावरकर का नाम भी था। उधर, दूसरी ओर बुधवार को मध्यप्रदेश की एक चुनावी रैली में ​दिग्विजय सिंह ने अपनी राजनीति कैरियर को लेकर बड़ा इशारा किया कि वह अब सक्रिय राजनीति से संयास की घोषणा कर सकते हैं।

झाबुआ जिले के बोरी क्षेत्र में अपने विश्वासपात्र और पार्टी के उम्मीदवार कांतिलाल भूरिया के लिए आयोजित एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि मैंने और कांतिलाल भूरिया सक्रिय राजनीति में लंबे समय से हैं, और अब हम एक ऐसे उम्र में आ चुके हैं, जहां से हमें संयास ले लेना चाहिए।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...