1. हिन्दी समाचार
  2. भारत के नये नक्शे में शामिल हुए ये हिस्से

भारत के नये नक्शे में शामिल हुए ये हिस्से

Vgovt Releases New Political Map Of India Showing Uts Of Jk Ladakh

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। पूर्ववर्ती जम्मू-कश्मीर के विभाजन के बाद सरकार द्वारा नया नक्‍शा जारी किया गया है। इस नक्शे में POK को जम्मू कश्मीर का और गिलगित-बाल्टिस्तान को लद्दाख का हिस्सा बताया गया है। जान लें कि पूर्ववर्ती जम्मू कश्मीर राज्य के विभाजन के बाद सरकार द्वारा जारी नये नक्शों में पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर (POK) नवगठित जम्मू कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश और गिलगित-बाल्टिस्तान लद्दाख केंद्र शासित प्रदेश का हिस्सा है। गृह मंत्रालय ने एक अधिसूचना के तहत भारत का नया नक्शा जारी किया है।

पढ़ें :- Weather Update: इन इलाकों में बारिश के आसार, दिल्ली-NCR में घना कोहरा...

लद्दाख में दो जिले कारगिल और लेह शामिल हैं। जबकि जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश में 20 जिले शामिल किए गए हैं। एक गजट अधिसूचना में सरकार ने कारगिल के वर्तमान क्षेत्र को छोड़कर लेह जिले के क्षेत्रों गिलगिट, गिलगित वजारत, चिलास, जनजातीय क्षेत्र व लेह और लद्दाख को भी संकलित किया है।

इस आदेश को जम्मू एवं कश्मीर पुनर्गठन (कठिनाइयों को दूर करना) दूसरा आदेश-2019 कहा गया है। जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश के मानचित्र में 20 जिले शामिल हैं, जिसमें मुजफ्फराबाद, मीरपुर और पुंछ के वे क्षेत्र शामिल हैं, जो पीओके के अधीन हैं।

1947 में जम्मू एवं कश्मीर राज्य में 14 जिले थे. इनमें कठुआ, जम्मू, उधमपुर, रियासी, अनंतनाग, बारामूला, पुंछ, मीरपुर, मुजफ्फराबाद, लेह और लद्दाख, गिलगित, गिलगित वजरात, चिल्हास और जनजातीय क्षेत्र शामिल थे। संसद की सिफारिश पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अगस्त महीने में भारतीय संविधान से अनुच्छेद-370 को प्रभावी रूप से समाप्त कर दिया था।

जम्मू एवं कश्मीर 31 अक्टूबर को एक राज्य के रूप में अस्तित्व में नहीं रह गया और आधिकारिक तौर पर दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू एवं कश्मीर और लद्दाख में विभाजित हो गया।

पढ़ें :- Birthday special: दुबई में सेलिब्रेट करेगी नम्रता अपना बर्थड़े, पार्टी में शामिल होंगे ये लोग

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...