बुलंदशहर कांड: विश्व हिन्दू परिषद ने की सीबीआई जांच की मांग

bulandsahar case
बुलंदशहर कांड: विश्व हिन्दू परिषद ने की सीबीआई जांच की मांग

नोएडा। बुलंदशहर में गोहत्या को लेकर विवाद में इंस्पेक्टर की हत्या के मामले में विश्व हिंदू परिषद ने पुलिस की भूमिका पर सवालिया निशान लगाया है। विहिप ने इस पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। परिषद ने कहा है कि इस घटना में विहिप के कार्यकर्ता को एसएसपी ने गांव वालों के साथ बातचीत के लिए बुलाया था और एफआईआर में उसका नाम भी लिखवा दिया। परिषद ने पुलिस ने इन कार्यकर्ताओं को फर्जी तरीके से फंसाने का आरोप लगाया है।

Vhp Demamds Cbi Enqueri In Bulandshar Case :

बता दें कि 3 दिसंबर को बुलंदशहर के स्याना में गोकशी की अफवाह के बाद हिंसा फैल गई। यहां लोगों को शांत रहने की अपील कर रहे है इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की गुस्साई भीड़ ने जान ले ली। इस मामले में 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है और एसआईटी भी गठित कर दी है।

विहिप के राष्ट्रीय प्रवक्ता विजय शंकर तिवारी ने कहा है कि जिस जगह पर यह घटना हुई है ,वहां पर सम्मेलन से जुड़े लोगों का एक कैंप भी था। वहीं पर ग्रामीणों ने गौकशी करते हुए दो लोगों को पकड़कर पुलिस के हवाले भी किया था। जिन्हे बाद में पुलिस ने छोड़ दिया, इसी से नाराज होकर ग्रामीण पुलिस अधिकारियों के पास इसकी शिकायत करने गए।

राष्ट्रीय प्रवक्ता के मुताबिक पुलिस ने उन्हें जबरदस्ती भगा दिया। उन्होंने कहा कि घटनास्थल पर गोली चलने की जो घटनाएं हुई हैं वह साजिश का हिस्सा हैं। इसीलिए ये जरूरी है कि इस पूरे मामले की सीबीआई जांच कराई जाए। ताकि दूध का दूध व पानी का पानी हो जाए।

नोएडा। बुलंदशहर में गोहत्या को लेकर विवाद में इंस्पेक्टर की हत्या के मामले में विश्व हिंदू परिषद ने पुलिस की भूमिका पर सवालिया निशान लगाया है। विहिप ने इस पूरे मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। परिषद ने कहा है कि इस घटना में विहिप के कार्यकर्ता को एसएसपी ने गांव वालों के साथ बातचीत के लिए बुलाया था और एफआईआर में उसका नाम भी लिखवा दिया। परिषद ने पुलिस ने इन कार्यकर्ताओं को फर्जी तरीके से फंसाने का आरोप लगाया है।बता दें कि 3 दिसंबर को बुलंदशहर के स्याना में गोकशी की अफवाह के बाद हिंसा फैल गई। यहां लोगों को शांत रहने की अपील कर रहे है इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की गुस्साई भीड़ ने जान ले ली। इस मामले में 3 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है और एसआईटी भी गठित कर दी है।विहिप के राष्ट्रीय प्रवक्ता विजय शंकर तिवारी ने कहा है कि जिस जगह पर यह घटना हुई है ,वहां पर सम्मेलन से जुड़े लोगों का एक कैंप भी था। वहीं पर ग्रामीणों ने गौकशी करते हुए दो लोगों को पकड़कर पुलिस के हवाले भी किया था। जिन्हे बाद में पुलिस ने छोड़ दिया, इसी से नाराज होकर ग्रामीण पुलिस अधिकारियों के पास इसकी शिकायत करने गए।राष्ट्रीय प्रवक्ता के मुताबिक पुलिस ने उन्हें जबरदस्ती भगा दिया। उन्होंने कहा कि घटनास्थल पर गोली चलने की जो घटनाएं हुई हैं वह साजिश का हिस्सा हैं। इसीलिए ये जरूरी है कि इस पूरे मामले की सीबीआई जांच कराई जाए। ताकि दूध का दूध व पानी का पानी हो जाए।