1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. कानपुर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विनय पाठक की मुसीबतें बढ़नी तय,पूर्व विधायकों ने राज्यपाल को लिखा पत्र

कानपुर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. विनय पाठक की मुसीबतें बढ़नी तय,पूर्व विधायकों ने राज्यपाल को लिखा पत्र

छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविद्यालय कानपुर के कुलपति प्रो. विनय पाठक की मुसीबतें बढ़त जा रही हैं। उत्तराखंड के छह पूर्व विधायकों ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को पत्र लिखकर प्रो. विनय कुमार पाठक के विरुद्ध बड़े पैमाने पर किए गए विभिन्न भ्रष्टाचार के प्रकरण में तत्काल कदम उठाते हुए मामले की जांच ईडी, आईटी और सीबीआई से कराए जाने के साथ ही गिरफ्तारी की मांग की है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविद्यालय कानपुर के कुलपति प्रो. विनय पाठक की मुसीबतें बढ़त जा रही हैं। उत्तराखंड के छह पूर्व विधायकों ने राज्यपाल आनंदीबेन पटेल को पत्र लिखकर प्रो. विनय कुमार पाठक के विरुद्ध बड़े पैमाने पर किए गए विभिन्न भ्रष्टाचार के प्रकरण में तत्काल कदम उठाते हुए मामले की जांच ईडी, आईटी और सीबीआई से कराए जाने के साथ ही गिरफ्तारी की मांग की है।

पढ़ें :- SBI SCO Recruitment: भारतीय स्टेट बैंक में निकली बम्पर भर्ती, कैंडिडेट्स जल्द करें अप्लाई

पूर्व विधायकों ने कहा है कि छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविद्यालय के वर्तमान कुलपति व भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय आगरा के प्रभारी कुलपति प्रो. विनय पाठक इन दिनों भ्रष्टाचार, कदाचार धोखाधड़ी के पर्याय बन गए हैं। उन्होंने शिक्षा के उच्च मन्दिर जिनमें उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय हल्द्वानी, कोटा की वर्धमान महावीर ओपन यूनिवर्सिटी, भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय आगरा, छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविद्यालय कानपुर, अब्दुल कलाम आजाद टेक्निकल विश्वविद्यालय तथा लखनऊ की भाषा विश्वविद्यालय के कुलपति के रूप में करोड़ों रुपयों की बेईमानी, धोखाधड़ी, भ्रष्टाचार करके विश्वविद्यालयों, शिक्षकों , छात्रों, अध्यापकों और विश्वविद्यालय के कर्मचारियों के साथ बहुत बड़ा अनैतिक कार्य करके प्रदेश व देश स्तर को बहुत बड़ी हानि व कलंकित किया है। राज्यपाल को पत्र भेजने वाले पूर्व विधायकों में भूधर नारायण मिश्रा, नेक चन्द्र पाण्डेय, हाफिज मोहम्मद उमर, गणेश दीक्षित, संजीव दरियाबादी और सरदार कुलदीप सिंह शामिल है।

 

पढ़ें :- नौतनवा:सांस्कृतिक कार्यक्रमों के बीच हर्षोल्लास के साथ 74वॉ गणतंत्र दिवस और बसंत पंचमी मना
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...