चंडीगढ़ पुलिस को धन्यवाद देते हुए पीड़िता ने लिखी आपबीती, कहा शायद मैं किडनैप हो जाती

Victim Thanked Chandigarh Police Says Maybe I Got Kidnapped

चंडीगढ़। देश के सबसे बेहतर और सुरक्षित शहरों की गिनती में शीर्ष पर आने वाले चंडीगढ़ शहर में शनिवार को सामने आई एक वारदात ने देश का ध्यान अपनी ओर खींचा। मामला महिला अपराध से जुड़ा होने के साथ—साथ एक ताकतवर राजनेता से भी जुड़ा था। एक ऐसा नेता जिसकी पहुंच दिल्ली से लेकर अपने सूबे की सरकार तक है। इस नेता का बेटा अपने पिता की पहुंच की हनक में चूर एक युवती को किडनैप करने की कोशिश करते हुए पुलिस के हत्थे चढ़ा। मामला तब और हाईप्रोफाइल हो गया जब पुलिस को पता चला कि पीड़िता का पिता एक सीनियर आईएएस अधिकारी है और आरोपी का पिता हरियाणा भाजपा का प्रदेश अध्यक्ष। राजनेता पिता की पहुंच के चलते चंड़ीगढ़ पुलिस ने आरोपी को महज 24 घंटों तक हिरासत में रखने के बाद छोड़ दिया।

इस पूरे घटनाक्रम के बाद पीड़िता ने अपनी आपबीती को सोशल मीडिया के माध्यम से सार्वजनिक किया है। पीड़िता ने लिखा, ‘मैं शायद किडनैप हो जाती, मैं रात करीब सवा 12 बजे अपनी कार से सेक्टर-8 मार्केट से अपने घर जा रही थी। जब रोड क्रॉस करने के बाद मैं सेक्टर-7 के पेट्रोल पंप के पास पहुंची, उस समय फोन पर अपने फ्रेंड से बात कर रही थी। अचानक से अहसास हुआ कि सफेद रंग की एक एसयूवी कार मेरी कार का पीछा कर रही है। उस कार में दो लड़के सवार थे, कई बार ऐसा महसूस हुआ कि वे मेरी कार को टक्कर मार देंगे। किसी तरह मैं खुद को बचा रही थी। इस बीच मैंने पुलिस को फोन कर अपनी लोकेशन बताई। पुलिस ने मुझ तक जल्द पहुंचने का आश्वासन दिया। वह दोनों मुझे पकड़ने की हर संभव कोशिश कर रहे थे, मेरे हाथ कांप रहे थे, मैं डरी हुई थी, आंखों में आंसू लिए मैं ये सोच रही थी कि पता नहीं आज मैं घर लौट पाऊंगी भी कि नहीं… पता नहीं पुलिस वाले आएंगे या नहीं।’

‘यह कहना ठीक होगा कि संकट की घड़ी में कॉल करने पर एक मिनट में पुलिस ने मुस्तैदी दिखाई और मुझे उनके चंगुल से बचाया। इस हादसे से सिस्टम पर मेरा विश्वास कायम हुआ है। थैंक्स चंडीगढ़ पुलिस।’

यह घटना शनिवार को चंडीगढ़ में सामने आया, जहां हरियाणा भाजपा के अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला और उसके दोस्त आधी रात को कार से एक युवती का अपहरण करने की कोशिश के तहत पुलिस हिरासत में लिए गए। पुलिस ने भले ही औपचारिक कार्रवाई के बाद आरोपियों को 24 घंटे के अंदर छोड़ दिया, लेकिन पीड़िता ने चंडीगढ़ पुलिस को धन्यवाद कहा है।

चंडीगढ़। देश के सबसे बेहतर और सुरक्षित शहरों की गिनती में शीर्ष पर आने वाले चंडीगढ़ शहर में शनिवार को सामने आई एक वारदात ने देश का ध्यान अपनी ओर खींचा। मामला महिला अपराध से जुड़ा होने के साथ—साथ एक ताकतवर राजनेता से भी जुड़ा था। एक ऐसा नेता जिसकी पहुंच दिल्ली से लेकर अपने सूबे की सरकार तक है। इस नेता का बेटा अपने पिता की पहुंच की हनक में चूर एक युवती को किडनैप करने की कोशिश करते हुए…