1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. विजय दिवस: पीएम मोदी ने वॉर मेमोेरियल पहुंचकर प्रज्जवलित की ‘स्वर्णिम विजय मशाल’

विजय दिवस: पीएम मोदी ने वॉर मेमोेरियल पहुंचकर प्रज्जवलित की ‘स्वर्णिम विजय मशाल’

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। वर्ष 1971 के युद्ध में भारत ने पाकिस्तान को करारी शिकस्त दी थी। इस दिन को ‘विजय दिवस’ के रूप में मनाया जा रहा है। युद्ध को 50 साल पूरे हो गए हैं। इस मौके पर दिल्ली स्थित वॉर मेमोरियल पर पीएम नरेंद्र मोदी ने ‘स्वर्णिम विजय ​मशाल’ प्रज्जवलित की और जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की। इस मौके पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, सीडीएस बिपिन रावत के साथ अलावा तीनों सेनाओं के प्रमुख उनके साथ मौजूद रहे।

पढ़ें :- खुशखबरी: दिल्ली में इतने रुपये कम हुए पेट्रोल के दाम, केजरीवाल सरकार का बड़ा फैसला

प्रधानमंत्री ने इस अवसर पर 1971 के युद्ध के शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। मोदी ने राष्‍ट्रीय समर स्‍मारक पर लगातार जलती रहने वाली ज्‍योति से चार विजय मशाल प्रज्‍ज्वलित कीं और उन्‍हें 1971 के युद्ध के परमवीर चक्र और महावीर चक्र विजेताओं के गांवों सहित देश के विभिन्‍न भागों के लिए रवाना किया। इन विजेताओं के गांवों के अलावा 1971 के युद्ध स्‍थलों की मिट्टी को नई दिल्‍ली के राष्‍ट्रीय युद्ध स्‍मारक में लाया जाएगा।

वहीं कोलकाता स्थित सेना के कमान मुख्यालय फोर्ट विलियम में भी कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस मौके पर पूर्वी कमान के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल अनिल चौहान ने कहा कि लद्दाख में चीन के साथ हुई झड़प के बाद कमान क्षेत्र में कोई बड़ी घुसपैठ नहीं हुई है।

इसलिए मनाया जाता है ‘विजय दिवस’
16 दिसंबर, 1971 को देश की पश्चिमी सीमा पर बसंतर नदी के किनारे खुले मोर्चे पर भारतीय सेना ने पाकिस्तानी सेना को हरा दिया था। इसलिए भारतीय सेना 16 दिसम्बर को ‘विजय दिवस’ मनाती है। पाकिस्तान ने इस युद्ध में 93 हजार सैनिकों के साथ सरेंडर किया था।

 

पढ़ें :- UPTET Paper Leak Case: योगी सरकार की बड़ी कार्रवाई, STF ने PNP के सचिव संजय उपाध्याय को किया गिरफ्तार

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...