1. हिन्दी समाचार
  2. विदुर नीति: परिश्रम और ईमानदारी से कमाए धन से सुख-शांति बनी रहती है

विदुर नीति: परिश्रम और ईमानदारी से कमाए धन से सुख-शांति बनी रहती है

By बलराम सिंह 
Updated Date

Vidur Policy Money Earned By Hard Work And Honesty Leads To Peace And Peace

लखनऊ। महाभारत के उद्योगपर्व में महाराज धृतराष्ट्र और उनके सलाहकार विदुर के बीच धर्म को लेकर वृहद संवाद हुआ। इन संवादों में विदुर ने जो बातें धृतराष्ट्र को बताई थीं उन्हें ही विदुर नीति कहा जाता है। विदुर नीति में बताई गई बातों का ध्यान रखने पर आज भी हम कई परेशानियों से बच सकते हैं। जानिए धन से जुड़ी एक विदुर नीति-

पढ़ें :- 17 अप्रैल 2021 का राशिफल: इन राशि के जातकों पर होगी शनिदेव की कृपा, जानिए अपनी राशि का हाल

श्रीर्मङ्गलात् प्रभवति प्रागल्भात् सम्प्रवर्धते।

दाक्ष्यात्तु कुरुते मूलं संयमात् प्रतितिष्ठत्ति।।

यह महाभारत के उद्योगपर्व के 35वें अध्याय के 44वां श्लोक है। इसमें कहा गया है कि अच्छे काम करने से स्थाई लक्ष्मी आती है। परिश्रम और ईमानदारी से किए गए कामों से जो धन मिलता है, उससे ही सुख-शांति बनी रहती है। गलत कामों से मिला धन जीवन में दुख बढ़ाता है। दुर्योधन ने छल से पांडवों से उनकी धन-संपत्ति छीन ली थी, लेकिन ये संपत्ति उसके पास टिक ना सकी।

महात्मा विदुर ने कहा कि हमें धन का निवेश सही जगह करना चाहिए। अगर हम धन सही कार्यों में लगाएंगे तो अच्छा लाभ मिल सकता है। दुर्योधन ने धन का उपयोग पांडवों को नष्ट करने में किया था, लेकिन उसका धन किसी काम नहीं आया।

पढ़ें :- आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत को अस्पताल से मिलेगी छुट्टी, कोरोना संक्रमित होने के बाद से थे भर्ती

विदुर की यह नीति हमें यह सिखाती है कि सुखी रहने के लिए बुद्धिमानी से योजनाएं बनानी चाहिए कि धन कहां खर्च करना है और कहां नहीं, इसका ध्यान रखना चाहिए। आय-व्यय में संतुलन बनाए रखना चाहिए। महाभारत में पांडव दुर्योधन से सबकुछ हार गए थे, इसके बाद उन्होंने अभाव का जीवन व्यतीत किया था, लेकिन वे अभाव में भी सुखी और प्रसन्न थे।

विदुर कहते हैं कि धन के संबंधी कामों में संयम रखना बहुत जरूरी है। अगर हम हमेशा सुख और शांति प्राप्त करना चाहते हैं तो मानसिक, शारीरिक और वैचारिक संयम बनाए रखना जरूरी है। धन का दुरुपयोग न करें। गलत आदतों से बचें। युधिष्ठिर अपनी गलत आदत द्युत क्रीड़ा खेलने की वजह में ही सब कुछ हार गए थे। इस एक गलत आदत की वजह से सभी पांडवों को कई परेशानियों का सामना करना पड़ा था।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...