बैंकों को चूना लगाने वाले विजय माल्या ने फिर कही सारा कर्ज लौटाने की बात

vijay malya
विजय माल्या ने सरकार को दी आर्थिक पैकेज की बधाई, लेकिन मुझसे भी पैसा ले ले सरकार

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ने दुनियाभर में कोहराम मचा रखा है। मौतों का आंकड़ा लगातार बढ़ने के कारण कई देशों में लाॅकडाउन लागू किया गया है। इसी बीच भारत की सार्वजनिक बैंकों को चूना लगाने वाले शराब कारोबारी विजय माल्या ने एक बार फिर अपना सारा कर्ज लौटाने की बात कही है, लेकिन विजय माल्या ने ट्वीट पर कहा कि बैंक और प्रवर्तन निदेशालय इसमें उसकी मदद नहीं कर रहे हैं। इस बीच भारत में कोरोना वायरस के संकट की वजह से जारी लॉकडाउन को लेकर भी अब विजय माल्या की ओर से शिकायत की जा रही है।

Vijay Mallya Who Defrauded Banks Again Said That He Should Repay All The Debts :

माल्या ने ट्वीट कर लिखा है कि भारत सरकार ने पूरे देश को लॉकडाउन किया है, जो किसी ने सोचा नहीं था। हम इसका सम्मान करते हैं, लेकिन इसकी वजह से मेरी सभी कंपनियों का काम ठप हो गया है। सभी तरह की मैन्युफैक्चरिंग भी बंद है। इसके बावजूद हम अपने कर्मचारियों को घर नहीं भेज रहे हैं और उसकी कीमत चुका रहे हैं। सरकार को हमारी मदद करनी होगी।

उन्होंने दूसरे ट्वीट में लिखा है कि वह कई बार ऐसा ऑफर दे चुका है कि वो बैंक का सारा पैसा लौटाने के लिए तैयार है, लेकिन बैंक ना तो पैसा लेने को तैयार हैं और ना ही प्रवर्तन निदेशालय मदद को तैयार है। मुझे उम्मीद है कि वित्त मंत्री इस संकट की घड़ी में उनकी बात सुनेंगी। गौरतलब है कि लंदन में रह रहे विजय माल्या ने पहले भी कर्ज का सारा पैसा लौटाने की पेशकश की थी, लेकिन बैंक और ईडी ने कोई जवाब नहीं दिया था। विजय माल्या 9000 करोड़ रुपए का कर्ज चुकाने में विफल रहने पर दो मार्च 2016 को भारत छोड़कर भाग गया था।

नई दिल्ली। कोरोना वायरस ने दुनियाभर में कोहराम मचा रखा है। मौतों का आंकड़ा लगातार बढ़ने के कारण कई देशों में लाॅकडाउन लागू किया गया है। इसी बीच भारत की सार्वजनिक बैंकों को चूना लगाने वाले शराब कारोबारी विजय माल्या ने एक बार फिर अपना सारा कर्ज लौटाने की बात कही है, लेकिन विजय माल्या ने ट्वीट पर कहा कि बैंक और प्रवर्तन निदेशालय इसमें उसकी मदद नहीं कर रहे हैं। इस बीच भारत में कोरोना वायरस के संकट की वजह से जारी लॉकडाउन को लेकर भी अब विजय माल्या की ओर से शिकायत की जा रही है। माल्या ने ट्वीट कर लिखा है कि भारत सरकार ने पूरे देश को लॉकडाउन किया है, जो किसी ने सोचा नहीं था। हम इसका सम्मान करते हैं, लेकिन इसकी वजह से मेरी सभी कंपनियों का काम ठप हो गया है। सभी तरह की मैन्युफैक्चरिंग भी बंद है। इसके बावजूद हम अपने कर्मचारियों को घर नहीं भेज रहे हैं और उसकी कीमत चुका रहे हैं। सरकार को हमारी मदद करनी होगी। उन्होंने दूसरे ट्वीट में लिखा है कि वह कई बार ऐसा ऑफर दे चुका है कि वो बैंक का सारा पैसा लौटाने के लिए तैयार है, लेकिन बैंक ना तो पैसा लेने को तैयार हैं और ना ही प्रवर्तन निदेशालय मदद को तैयार है। मुझे उम्मीद है कि वित्त मंत्री इस संकट की घड़ी में उनकी बात सुनेंगी। गौरतलब है कि लंदन में रह रहे विजय माल्या ने पहले भी कर्ज का सारा पैसा लौटाने की पेशकश की थी, लेकिन बैंक और ईडी ने कोई जवाब नहीं दिया था। विजय माल्या 9000 करोड़ रुपए का कर्ज चुकाने में विफल रहने पर दो मार्च 2016 को भारत छोड़कर भाग गया था।