पुलिस से बचने के लिए भगवा कपड़े पहनकर साधू बना था विकास दुबे का साथी, इस तरह पुलिस ने दबोचा

Balgovind
पुलिस से बचने के लिए भगवा कपड़े पहनकर साधू बना था विकास दुबे का साथी, इस तरह पुलिस ने दबोचा

कानपुर। कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद से फरार विकास दुबे के साथियों पर पुलिस शिकंजा कसती जा रही है। फरार आरोपी खुद सरेंडर कर रहे हैं तो कुछ अपराधियों को पुलिस गिरफ्तार भी कर रही है। इस बीच चित्रकूट के कामता नाथ मंदिर में साधू बनकर रहे रहे विकास दुबे के साथ बालगोविंद दुबे को पुलिस ने गिरफ्तार किया है।

Vikas Dubeys Companion Was Made Saffron By Wearing Saffron Clothes To Escape From The Police Thus The Police Caught :

आरोपी के ऊपर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित था। पुलिस ने बताया कि बाल गोविंद दुबे घटना के बाद से ही फरार चल रहा था। वह बचने के लिए भगवा कपड़े पहनकर साधु बन गया था। लेकिन पुलिस को इसकी भनक लग गई थी। इसके बाद पुलिस ने छापेमारी कर उसे दबोच लिया।

वहीं, इससे पहले ​इस वारदात में शामिल उमाकांत शुक्ला ने ​कानपुर के बिकरू थाने में पहुंचकर सरेंडर किया था। पूछताछ में उमाकांत ने ही बताया था कि इस घटना में शामिल बालगोाविंद भी सरेंडर करने की फिराक में है, जिसके बाद पुलिस ने चित्रकूट में छापेमारी कर उसे दबोच लिया।

 

कानपुर। कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद से फरार विकास दुबे के साथियों पर पुलिस शिकंजा कसती जा रही है। फरार आरोपी खुद सरेंडर कर रहे हैं तो कुछ अपराधियों को पुलिस गिरफ्तार भी कर रही है। इस बीच चित्रकूट के कामता नाथ मंदिर में साधू बनकर रहे रहे विकास दुबे के साथ बालगोविंद दुबे को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी के ऊपर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित था। पुलिस ने बताया कि बाल गोविंद दुबे घटना के बाद से ही फरार चल रहा था। वह बचने के लिए भगवा कपड़े पहनकर साधु बन गया था। लेकिन पुलिस को इसकी भनक लग गई थी। इसके बाद पुलिस ने छापेमारी कर उसे दबोच लिया। वहीं, इससे पहले ​इस वारदात में शामिल उमाकांत शुक्ला ने ​कानपुर के बिकरू थाने में पहुंचकर सरेंडर किया था। पूछताछ में उमाकांत ने ही बताया था कि इस घटना में शामिल बालगोाविंद भी सरेंडर करने की फिराक में है, जिसके बाद पुलिस ने चित्रकूट में छापेमारी कर उसे दबोच लिया।