सीएम नीतीश के काफिले पर ग्रामीणों ने किया पथराव, कई सुरक्षाकर्मी घायल

cm-nitish
सीएम नीतीश के काफिले पर ग्रामीणों ने किया पथराव, कई सुरक्षाकर्मी घायल

बक्सर। सीएम नीतीश कुमार शुक्रवार को समीक्षा दौरे पर बक्सर पहुंचे। यहां के एक गांव में ये विकास कार्यों का जायजा लेने पहुंचे। अभी सीएम का काफिला उस गांव में पहुंच ही रहा था तभी ग्रामीणों ने पथराव व लठियां चलनी शुरू कर दी। जिसमें कई गाड़ियों के शीशे टूटे, कुछ सुरक्षाकर्मी घायल हो गए हालांकि सीएम बाल बाल बच गए। जिसके बाद जैसे-तैसे सीएम को वहा से निकाला गया। बताया जा रहा है कि कुछ असामाजिक तत्वों ने सीएम के कारकेड पर अचानक हमला कर दिया और जमकर पत्थरबाजी की, जिससे काफिले में कई गाड़ियों के शीशे टूट गए हैं।

Villagers Attacked On Carcade Of Cm Nitish Kumar In Buxar :

दरअसल, गांव में विकास कार्यों के नहीं होने की वजह से स्थानीय लोग नीतीश कुमार से खफा थे और वे मुख्यमंत्री को गांव के बुरे हालात को दिखाना चाहता थे। इसी को लेकर वहां विवाद हुआ और कुछ लोगों ने पत्थरबाजी करनी शुरू कर दी। हालांकि, नीतीश कुमार को वहां से निकाल कर गांव से दो किलोमीटर दूर एक फर्म में ले जा गया है जहां उन्हें एक सभा को संबोधित करना है.

बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन दिनों विकास कार्यों की हकीकत जानने के लिए बिहार राज्य में आयोजित समीक्षा यात्रा पर हैं। पिछले साल सात दिसंबर को समीक्षा यात्रा पश्चिम चंपारण जिले से शुरू हुई। जो 18 जनवरी तक जारी रहेगी। इसी कड़ी में सीएम बिहार के बक्सर जिले में पहुंचे थे जहां की जनता सरकार के काम से बेहद खफा थी। सीएम के पहुँचते ही ये नाराजगी समाने दिख गयी।

बक्सर। सीएम नीतीश कुमार शुक्रवार को समीक्षा दौरे पर बक्सर पहुंचे। यहां के एक गांव में ये विकास कार्यों का जायजा लेने पहुंचे। अभी सीएम का काफिला उस गांव में पहुंच ही रहा था तभी ग्रामीणों ने पथराव व लठियां चलनी शुरू कर दी। जिसमें कई गाड़ियों के शीशे टूटे, कुछ सुरक्षाकर्मी घायल हो गए हालांकि सीएम बाल बाल बच गए। जिसके बाद जैसे-तैसे सीएम को वहा से निकाला गया। बताया जा रहा है कि कुछ असामाजिक तत्वों ने सीएम के कारकेड पर अचानक हमला कर दिया और जमकर पत्थरबाजी की, जिससे काफिले में कई गाड़ियों के शीशे टूट गए हैं।दरअसल, गांव में विकास कार्यों के नहीं होने की वजह से स्थानीय लोग नीतीश कुमार से खफा थे और वे मुख्यमंत्री को गांव के बुरे हालात को दिखाना चाहता थे। इसी को लेकर वहां विवाद हुआ और कुछ लोगों ने पत्थरबाजी करनी शुरू कर दी। हालांकि, नीतीश कुमार को वहां से निकाल कर गांव से दो किलोमीटर दूर एक फर्म में ले जा गया है जहां उन्हें एक सभा को संबोधित करना है.बता दें कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार इन दिनों विकास कार्यों की हकीकत जानने के लिए बिहार राज्य में आयोजित समीक्षा यात्रा पर हैं। पिछले साल सात दिसंबर को समीक्षा यात्रा पश्चिम चंपारण जिले से शुरू हुई। जो 18 जनवरी तक जारी रहेगी। इसी कड़ी में सीएम बिहार के बक्सर जिले में पहुंचे थे जहां की जनता सरकार के काम से बेहद खफा थी। सीएम के पहुँचते ही ये नाराजगी समाने दिख गयी।