सैकड़ो चमगादड़ की रहस्मयी मौत से ग्रामीणों में दहसत

IMG_20200526_181255

Villagers Panic Due To Mysterious Death Of Hundreds Of Bats :

गोरखपुर। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के शहर गोरखपुर दक्षिणांचल में बेलघाट गांव के एक बाग में लगभग 300 सौ चमगादड़ों की मौत से हड़कंप मच गया है. बताया जा रहा है कि एक बागीचे में ये चमगादड़ मृत पाए गए हैं. अचानक इतनी बड़ी संख्या में चमगादड़ों की मौत से हड़कंप मच गया है. चमगादड़ों के शव को पोस्‍टमार्टम के लिए बरेली भेजा गया है.

बेलघाट स्थित ध्रुव नारायण शाही के बाग में सुबह बड़े पैमाने पर चमगादड़ मृत देखे गए. थोड़ी देर में मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जुट गई. कोरोना संक्रमण को लेकर ग्रामीणों में चमगादड़ से दहशत भी है. सुबह करीब 11 बजे सूचना मिलने के बाद खजनी रेंजर देवेंद्र कुमार भी मौके पर पहुंच गए. मृत चमगादड़ों को एकत्रित करके पोस्टमार्टम के लिए उनके शव को बरेल भेजा गया है. आशंका जताई जा रही है कि भीषण गर्मी और तालाब के सूखे होने की वजह से चमगादड़ों की मौत हो सकती है.

बेलघाट स्थित राधाकृष्‍ण सत्‍संग मंदिर के बाग में भी कुछ चमगादड़ मृत पाए गए हैं. चमगादड़ ध्रुव नारायण शाही के बाग से थोड़ी दूरी पर स्थित रोहित शाही के बाग पर पेड़ पर रहते रहे हैं. सोमवार दोपहर करीब दो बजे भी कुछ चमगादड़ मृत संख्या में देखे गए थे. डीएफओ अविनाश कुमार का कहना है कि 52 चमगादड़ों की मौत की बात सामने आई है. शवों को पोस्टमार्टम के लिए बरेली भेजा गया है. रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट रूप से कुछ बताया जा सकता है. मृत पाए गए चमगादड़ों में से तीन के शव सुरक्षित जार में रखकर उसे पोस्टमार्टम के लिए बरेली भेजा गया है.

वैश्विक महामारी कोरोना के बीच अचानक हुई चमगादड़ों की मौत से जहां दहशत का माहौल है. तो वहीं अधिकारी भी इस संबंध में पोस्‍टमार्टम के पहले कुछ भी कहने की स्थित में नहीं होने की बात कह रहे हैं. लेकिन, चमगादड़ों की मौतों ने संकट की इस घड़ी में लोगों में दहशत तो पैदा कर ही दी है.

https://youtu.be/u8Jl3MRbnhw गोरखपुर। मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ के शहर गोरखपुर दक्षिणांचल में बेलघाट गांव के एक बाग में लगभग 300 सौ चमगादड़ों की मौत से हड़कंप मच गया है. बताया जा रहा है कि एक बागीचे में ये चमगादड़ मृत पाए गए हैं. अचानक इतनी बड़ी संख्या में चमगादड़ों की मौत से हड़कंप मच गया है. चमगादड़ों के शव को पोस्‍टमार्टम के लिए बरेली भेजा गया है. बेलघाट स्थित ध्रुव नारायण शाही के बाग में सुबह बड़े पैमाने पर चमगादड़ मृत देखे गए. थोड़ी देर में मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जुट गई. कोरोना संक्रमण को लेकर ग्रामीणों में चमगादड़ से दहशत भी है. सुबह करीब 11 बजे सूचना मिलने के बाद खजनी रेंजर देवेंद्र कुमार भी मौके पर पहुंच गए. मृत चमगादड़ों को एकत्रित करके पोस्टमार्टम के लिए उनके शव को बरेल भेजा गया है. आशंका जताई जा रही है कि भीषण गर्मी और तालाब के सूखे होने की वजह से चमगादड़ों की मौत हो सकती है. बेलघाट स्थित राधाकृष्‍ण सत्‍संग मंदिर के बाग में भी कुछ चमगादड़ मृत पाए गए हैं. चमगादड़ ध्रुव नारायण शाही के बाग से थोड़ी दूरी पर स्थित रोहित शाही के बाग पर पेड़ पर रहते रहे हैं. सोमवार दोपहर करीब दो बजे भी कुछ चमगादड़ मृत संख्या में देखे गए थे. डीएफओ अविनाश कुमार का कहना है कि 52 चमगादड़ों की मौत की बात सामने आई है. शवों को पोस्टमार्टम के लिए बरेली भेजा गया है. रिपोर्ट आने के बाद ही स्पष्ट रूप से कुछ बताया जा सकता है. मृत पाए गए चमगादड़ों में से तीन के शव सुरक्षित जार में रखकर उसे पोस्टमार्टम के लिए बरेली भेजा गया है. वैश्विक महामारी कोरोना के बीच अचानक हुई चमगादड़ों की मौत से जहां दहशत का माहौल है. तो वहीं अधिकारी भी इस संबंध में पोस्‍टमार्टम के पहले कुछ भी कहने की स्थित में नहीं होने की बात कह रहे हैं. लेकिन, चमगादड़ों की मौतों ने संकट की इस घड़ी में लोगों में दहशत तो पैदा कर ही दी है.