1. हिन्दी समाचार
  2. विनय कटियार बोले- मुसलमानों के हैं कई इस्लामिक देश, पर हिंदुओं के लिए सिर्फ हिंदुस्तान

विनय कटियार बोले- मुसलमानों के हैं कई इस्लामिक देश, पर हिंदुओं के लिए सिर्फ हिंदुस्तान

Vinay Katiyar Said Many Islamic Countries Belong To Muslims But India Is Only For Hindus

बाराबंकी। बीजेपी के फायरब्रांड नेता विनय कटियार अक्सर अपने विवादित बयानो के लिए जाने जाते थे, धार्मिक मामलो में हमेशा उनका कोई न कोई बयान आता है जो राजनीति में एक हलचल मचा देता है। एकबार फिर विनय कटियार ने सीएए मुदृे पर देश में चल रहे प्रदर्शनो को लेकर बयान दिया है। उनहोने कहा कि मुसलमानो के लिए तो बहुत से देश हैं मगर हिंदुओं के लिए केवल भारत ही है। इस दौरान उन्होने कहा कि जल्द ही भव्य राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा, अब इसमें देरी नहीं है।

पढ़ें :- 14 अप्रैल 2021 का राशिफल: इन जातकों पर होगी भगवान श्रीगणेश की कृपा, जानिए अपनी राशि का हाल

विनय कटियार बाराबंकी में एक कार्यक्रम में सिरकत करने पंहुचे थे। इसी दौरान विनय कटियार ने कहा कि नागरिकता संशोधन कानून को लेकर देश में झूंठ फैलाया जा रहा है। इस कानून के तहत देश के किसी भी मुसलमान को कोई नुकसान नही होने वाला, इस कानून के तहत किसी भी मुस्लिम को देश छोड़ने की नोटिस नहीं दी गई है।

उन्होने कहा कि ये कानून सिर्फ देने वाला कानून है, न कि किसी की नागरिकता छीनने वाला। उन्होने कहा कि मुसलमानों के लिए दुनिया में कई इस्लामिक देश हैं, लेकिन हिंदुओं के लिए सिर्फ हिंदुस्तान है। इस कानून के तहत उन्ही लोगों को नागरिकता दी जा रही है जिनके लिए प्रताड़ना के बाद भारत के अलांवा और कोई जगह नही है।

उन्होने कहा कि हम रोहिंग्या को तो नागरिकता देने वाले हैं नही. उन्हें अपने देश वापस जाना ही होगा। कटियार ने कहा कि जब भारत में रह रहे किसी भी मुसलमान को कोई नोटिस नही भेजा गया तो ​फिर इतना बवाल क्यों हो रहा है। लोग बवाल मचा रहे है उन्हे देखकर तो ऐसा ही लगता है कि वह देश के साथ रहना नहीं चाहते। उन्होने विपक्षी पार्टियों पर हमला करते हुए कहा कि भ्रम फैलाने वाले कोई और नहीं यह सपा , बसपा, कांग्रेस व टीएमसी है। इन पार्टियों की राजनीति समाप्त होने के कगार पर है इसीलिए ये भ्रम फैलाकर अपनी जमीन बचाने में लगे हैं।

पढ़ें :- मुख्यमंत्री के दफ्तर के कई कर्मचारी कोरोना संक्रमित, सीएम योगी ने खुद को किया आइसोलेट

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...