1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. चुनावी रैलियों और रोड शो में कोविड-19 प्रोटोकॉल का उल्लंघन चिंताजनक : मायावती

चुनावी रैलियों और रोड शो में कोविड-19 प्रोटोकॉल का उल्लंघन चिंताजनक : मायावती

बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने चुनावी रैलियों और रोड शो में कोविड-19 संबंधी नियमों के उल्लंघन पर दुख और चिंता प्रकट किया है। उन्होंने इस पर ध्‍यान देने की अपील की है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Violation Of Covid 19 Protocol At Election Rallies And Road Shows Worrisome Mayawati

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो और उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने चुनावी रैलियों और रोड शो में कोविड-19 संबंधी नियमों के उल्लंघन पर दुख और चिंता प्रकट किया है। उन्होंने इस पर ध्‍यान देने की अपील की है।

पढ़ें :- महाराष्ट्र में कोविड का असर , बंद होगा मुंबई एयरपोर्ट का टर्मिनल 1

बसपा प्रमुख मायावती ने बुधवार को एक ट्वीट कर यह अपील की है। उन्होंने ट्वीट में कहा कि देश में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप को केन्द्र और राज्य सरकारों के साथ-साथ लोगों को भी इसे अति-गंभीरता से लेने की जरूरत है, लेकिन खासकर चुनावी रैली व रोड शो आदि में कोरोना नियमों के घोर उल्लंघन के प्रति निष्क्रियता अति-दुःखद व चिंताजनक है।

पढ़ें :- कोरोना संक्रमण जल्द ठीक कर देती है ये दवा,इसके लिए पूरे देश में मचा हाहाकार

साथ ही मायावती ने केंद्र और राज्‍य सरकारों को सावधान करते हुए कहा कि इस पर उचित ध्यान देने की जरूरत है। बता दें कि कोविड-19 महामारी का प्रकोप थमने का नाम नहीं ले रहा है और पिछले 24 घंटों के दौरान 55,250 सक्रिय मामले बढ़ने से देश में सक्रिय मरीजों की संख्या बढ़कर आठ लाख के पार पहुंच गई है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से बुधवार सुबह जारी आंकड़ों के अनुसार इस बीच देश में 1,15,736 नये मामले दर्ज किए गए। इसके बाद कुल संक्रमितों की संख्या एक करोड़ 28 लाख एक हजार 785 हो गयी है। वहीं इस दाैरान 59,856 मरीज स्वस्थ हुए हैं जिसे मिलाकर अब तक 1,17,92,135 मरीज कोरोनामुक्त भी हो चुके हैं। सक्रिय मामले 55,250 बढ़कर 8,43,473 हो गये हैं। इसी अवधि में 630 और मरीजों की मौत के साथ इस बीमारी से मरने वालों की संख्या 1,66,177 हो गयी है।

देश में रिकवरी दर आंशिक घटकर 92.11 फीसदी और सक्रिय मामलों की दर बढ़कर 6.59 प्रतिशत हो गया है जबकि मृत्युदर घटकर 1.30 फीसदी रह गयी है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...