पश्चिम बंगाल में हिंसा जारी, बीजेपी नेता की गाड़ी पर हमला, 800 कंपनी केंद्रीय बलों की तैनाती

car atteck
पश्चिम बंगाल में हिंसा जारी, बीजेपी नेता की गाड़ी पर हमला, 800 कंपनी केंद्रीय बलों की हुई तैनाती

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के पहले चरण से ही पश्चिम बंगाल में हिंसा जारी है। बीजेपी और टीमएसी के बीच तल्खी बढ़ती ही जा रही है। टीएमसी छोड़कर भाजपा में शामिल हुए मुकुल राय की गाड़ी पर गुरुवार रात हमला कर दिया गया। यह घटना कोलकता से सटे दमदम लोकसभा के नागर बाजार में हुई। हमलावारों ने उनकी गाड़ी में जमकर तोड़फोड़ की।

Violence In West Bengal Bjp Leaders Attack On The Car :

बीजेपी नेता की गाड़ी पर हमला होने के बाद वहां पर और तनाव बढ़ गया है। वहीं इस मामले में बीजेपी तृणमूल कांग्रेस समर्थकों पर आरोप लगा रही है, जबकि तृणमूल के नेताओं का कहना है कि इस घटना से उनके पार्टी समर्थकों का कुछ लेना-देना नहीं है। टीएमसी का आरोप है कि बीजेपी नेता वहां पर देर रात रुपये बांटने गये थे। वहीं देर रात भारी संख्या में पुलिस व केंद्रीय बल मौके पर पहुंचने के बाद तोड़फोड़ करने वालों को हिरासत में लेकर साथ ले गए।

पश्चिम बंगाल में चुनाव के दौरान हो रही हिंसा को देखते हुए चुनाव आयोग ने सातवें और अंतिम चरण में वहां पर 800 कंपनी केन्द्रिय सुरक्षा बलों को तैनात किया है। आखिरी चरण में यहां पर 9 लोकसभा सीटों पर मतदान होगा। बता दें कि पश्चिम बंगाल में लगातार हो रही हिंसक घटनाओं पर भाजपा ने स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के लिए केंद्रीय बलों की तैनाती की मांग की थी। भाजपा का प्रतिनिधि मंडल ने आयोग से इस मसले पर कई मुलाकातें की थी।

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के पहले चरण से ही पश्चिम बंगाल में हिंसा जारी है। बीजेपी और टीमएसी के बीच तल्खी बढ़ती ही जा रही है। टीएमसी छोड़कर भाजपा में शामिल हुए मुकुल राय की गाड़ी पर गुरुवार रात हमला कर दिया गया। यह घटना कोलकता से सटे दमदम लोकसभा के नागर बाजार में हुई। हमलावारों ने उनकी गाड़ी में जमकर तोड़फोड़ की। बीजेपी नेता की गाड़ी पर हमला होने के बाद वहां पर और तनाव बढ़ गया है। वहीं इस मामले में बीजेपी तृणमूल कांग्रेस समर्थकों पर आरोप लगा रही है, जबकि तृणमूल के नेताओं का कहना है कि इस घटना से उनके पार्टी समर्थकों का कुछ लेना-देना नहीं है। टीएमसी का आरोप है कि बीजेपी नेता वहां पर देर रात रुपये बांटने गये थे। वहीं देर रात भारी संख्या में पुलिस व केंद्रीय बल मौके पर पहुंचने के बाद तोड़फोड़ करने वालों को हिरासत में लेकर साथ ले गए। पश्चिम बंगाल में चुनाव के दौरान हो रही हिंसा को देखते हुए चुनाव आयोग ने सातवें और अंतिम चरण में वहां पर 800 कंपनी केन्द्रिय सुरक्षा बलों को तैनात किया है। आखिरी चरण में यहां पर 9 लोकसभा सीटों पर मतदान होगा। बता दें कि पश्चिम बंगाल में लगातार हो रही हिंसक घटनाओं पर भाजपा ने स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के लिए केंद्रीय बलों की तैनाती की मांग की थी। भाजपा का प्रतिनिधि मंडल ने आयोग से इस मसले पर कई मुलाकातें की थी।