गलवान घाटी में झड़प: चीन का कमांडिंग अफसर मारा गया, 43 हताहत

    india and china
    गलवान घाटी में झड़प: चीन का कमांडिंग अफसर मारा गया, 43 हताहत

    नई दिल्ली। कोरोना को लेकर दुनिया भर में बेनाकब हुआ चीन एक बार फिर अपनी नापाक करतूतों से बेपर्दा हो गया है। गलवान घाटी में चीन की नापाक चाल फिर दुनिया के सामने उजागर हो गयी। गलवान घाटी में चीन सैनिकों के कारण हिंसक झड़प हुई, जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए। जबकि चीनी सेना के कमांडिंग अफसर समेत करीब तीन दर्जन वहां के सैनिकों के मारे या घायल होने की खबर है। हालांकि चीन इसको छुपा रहा है।

    Violent Clash In Galvan Valley Chinas Commanding Officer Killed More Than 40 Casualties :

    बॉर्डर के पास हुए तनाव के बाद बड़ी संख्या में एम्बुलेंस, स्ट्रेचर पर घायल और मृत चीनी सैनिकों को ले जाया गया। मीडिया रिपोर्ट की माने तो चीन के करीब 40 से अधिक सैनिक हताहत हुए हैं। हालांकि, चीन ने अपनी ओर से इसकी कोई पुष्टि नहीं की है। सूत्रों की माने तो, इस घटना में चीन का भी एक कमांडिंग अफसर मारा गया है, जो कि झड़प की अगुवाई कर रहा था। बता दें कि भारतीय सेना के भी कमांडिंग अफसर की इस झड़प में जान गई थी।

    सूत्रों के हवाले से जो खबर मिली है, उसके मुताबिक 15-16 जून की रात को गलवान घाटी के पास दोनों देशों के सैनिकों के बीच जो हिंसक झड़प हुई, उसमें चीन को बड़ा नुकसान हुआ है। इस नुकसान के अनुमान का आधार ये है कि चीन बॉर्डर पर स्ट्रेचर, एम्बुलेंस के जरिए घायल-मृत सैनिकों को ले जा रहा है। इसके अलावा गलवान नदी के पास चीनी हेलिकॉप्टर की हलचल बढ़ी है, जिसके जरिए सैनिकों को ले जाया जा रहा है।

     

     

     

     

    नई दिल्ली। कोरोना को लेकर दुनिया भर में बेनाकब हुआ चीन एक बार फिर अपनी नापाक करतूतों से बेपर्दा हो गया है। गलवान घाटी में चीन की नापाक चाल फिर दुनिया के सामने उजागर हो गयी। गलवान घाटी में चीन सैनिकों के कारण हिंसक झड़प हुई, जिसमें भारत के 20 जवान शहीद हो गए। जबकि चीनी सेना के कमांडिंग अफसर समेत करीब तीन दर्जन वहां के सैनिकों के मारे या घायल होने की खबर है। हालांकि चीन इसको छुपा रहा है। बॉर्डर के पास हुए तनाव के बाद बड़ी संख्या में एम्बुलेंस, स्ट्रेचर पर घायल और मृत चीनी सैनिकों को ले जाया गया। मीडिया रिपोर्ट की माने तो चीन के करीब 40 से अधिक सैनिक हताहत हुए हैं। हालांकि, चीन ने अपनी ओर से इसकी कोई पुष्टि नहीं की है। सूत्रों की माने तो, इस घटना में चीन का भी एक कमांडिंग अफसर मारा गया है, जो कि झड़प की अगुवाई कर रहा था। बता दें कि भारतीय सेना के भी कमांडिंग अफसर की इस झड़प में जान गई थी। सूत्रों के हवाले से जो खबर मिली है, उसके मुताबिक 15-16 जून की रात को गलवान घाटी के पास दोनों देशों के सैनिकों के बीच जो हिंसक झड़प हुई, उसमें चीन को बड़ा नुकसान हुआ है। इस नुकसान के अनुमान का आधार ये है कि चीन बॉर्डर पर स्ट्रेचर, एम्बुलेंस के जरिए घायल-मृत सैनिकों को ले जा रहा है। इसके अलावा गलवान नदी के पास चीनी हेलिकॉप्टर की हलचल बढ़ी है, जिसके जरिए सैनिकों को ले जाया जा रहा है।