चाइनीज उत्पादों के खिलाफ देशवासियों से पीएम मोदी की अपील

नई दिल्ली। सोशल मीडिया के वैसे तो कई लाभ है लेकिन इसके नुकसान भी कम नहीं है। कुछ चीजों को दरकिनार कर दे तो इसे अफवाहों का अड्डा कहा जा सकता है। इन दिनों सोशल मीडिया पर पीएम नरेंद्र मोदी की एक ट्वीट वायरल हो रही है। जिसमे मोदी की एक अपील शेयर की जा रही है जिसमें पीएम ने कहा है कि भारत के लोग इस साल नवरात्रि, दशहरा और दिवाली के सीज़न में चीनी उत्पाद- जैसे लाइट्स, पटाखे, दिये, झालर वग़ैरा-वग़ैरा- ना ख़रीदें। भले ही अपील में चीन का ज़िक्र नहीं है, लेकिन इशारा साफ़ तौर पर उसी की तरफ़ है।

फ़ेसबुक, वॉट्सऐप और ट्विटर जैसे सोशल मीडिया प्लैटफ़ॉर्म्स पर यह तस्वीर ख़ूब शेयर हो रही है। इसमें ‘पीएम’ के हवाले से कहा गया है कि लोग केवल भारत में बनीं चीज़ों (मिठाई, लाइट वग़ैरा) का ही इस्तेमाल करें। लोग इस ‘अपील’ को सच मानकर तस्वीर को अपनी-अपनी प्रोफ़ाइल से शेयर कर रहे हैं।

लेकिन यह अपील झूठी है। प्रधानमंत्री की ओर से ऐसा कुछ नहीं कहा गया। पिछले साल ख़ुद PMO की ओर से लोगों को इस बारे में सावधान किया गया था। काफ़ी समय से फैलाई जा रही इस झूठी अपील को लेकर पिछले साल 31 अगस्त को PMO ने यह ट्वीट किया था। इसमें लोगों को इस झूठ के बारे में आगाह किया गया था। ट्वीट में कहा गया, ‘Few appeals with PM’s ‘signature’ are circulated on social media. Such documents are not authentic’ यानी ‘पीएम के ‘हस्ताक्षर’ वाली कुछ अपीलें सोशल मीडिया पर फैलाई जा रही हैं। ऐसे दस्तावेज़ प्रमाणिक नहीं हैं।’