विराट ने तोड़ा अपना वादा, फिर एक बार बिखर गए भारतीय बल्लेबाज

चेन्नई। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच से पहले भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने वादा करते हुए कहा था कि अब टीम पुणे मैच की तरह घटिया प्रदर्शन नहीं दोहराएगी। लेकिन बेंगलुरु टेस्ट की पहली पारी में ही विराट सेना बिखर गयी और साथ ही साथ विराट का वादा भी टूट गया। दूसरे टेस्ट मैच की पहली पारी में एक बार फिर से भारतीय बल्लेबाजों का घटिया प्रदर्शन जारी रहा।



भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली ने इस मैच में टांस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया, जिसके बाद ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों ने भारतीय बल्लेबाजों की कमर तोड़ दी और पूरी भारतीय टीम 200 का आकडा भी नहीं छू पायी। इस मैच की पहली बारी में भारतीय ओपनर बल्लेबाज लोकेश राहुल ने सबसे ज्यादा 90 रन की पारी खेली। राहुल को छोड़ कर बाकी के सभी बल्लेबाजों का प्रदर्शन बेहद घटिया रहा और पुणे की कहानी एक बार फिर से अगले मैच में ही दोहरा दी गई। भारतीय टीम की तरफ से ओपनर अभिवन मुकुंद ने (0), पुजारा (17), विराट कोहली (12), रहाणे (17), करुण नायर (26), अश्विन (7), साहा (1), जडेजा (3), इशांत (0) और उमेश यादव नाबाद (0) रन की पारी खेली। पहली पारी में पूरी भारतीय टीम 200 का आंकड़ा भी नहीं छू पाई और 189 रन पर आउट हो गई।



बॉर्डर-गावस्कर टेस्ट सीरीज के पहले टेस्ट मैच यानी पुणे में भारतीय बल्लेबाजों ने बेहद घटिया स्तर की बल्लेबाजी की थी। पुणे टेस्ट की पहली पारी में भारतीय टीम ने 105 रन जबकि दूसरी पारी में 107 रन बनाए थे। भारतीय टीम के घटिया प्रदर्शन की वजह से ऑस्ट्रेलिया ने पहला टेस्ट मैच 333 रन के बड़े अंतर से जीता था।

विराट ने यह किया था वादा

विराट ने दूसरे टेस्ट मैच से ठीक पहले क्रिकेट फैंस से वादा किया था कि पहले टेस्ट जैसा प्रदर्शन आपको अब देखने को नहीं मिलेगा लेकिन विराट का वादा टूट गया और भारतीय बल्लेबाजों का घटिया प्रदर्शन बेंगलुरु टेस्ट की पहली पारी में जारी रहा।