वर्चुअल रैली: अमित शाह ने लालू परिवार पर साधा निशाना, कहा-अब लालटेन का नहीं LED बल्ब का जमाना है

amit shah
वर्चुअल रैली: अमित शाह ने लालू परिवार पर साधा निशाना, कहा-अब लालटेन का नहीं LED बल्ब का जमाना है

पटना। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को वर्चुअल रैली के जरिए बिहार में होने वाले विधानसभा का बिगुल फूंक दिया है। वर्चुअल रैली में शाह ने राष्ट्रीय जनता दल पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि अब जमाना लालटेन का नहीं एलईडी बल्ब का आ गया है। साथ ही कहा कि कोरोना महामारी में देश और विश्व में जिन लोगों ने जान गंवाई है उनके प्रति संवेदना प्रकट करता हूं। जो लोग कोरोना महामारी में युद्ध कर रहे हैं उनके लिए कामना करता हूं कि जीत कर आएं। साथ ही शाह ने कोरोना वॉरियर्स को सलाम किया।

Virtual Rally Amit Shah Targeted The Lalu Family Said Now It Is The Age Of The Led Bulb Not The Lantern :

शाह ने कहा कि बिहार की जनता ने 2014 और 2019 में पूर्ण जनादेश देकर केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार बनाई। गृहमंत्री ने वर्चुअल रैली में यह घोषणा की कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही बिहार में चुनाव लड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में बिहार में चुनाव हैं। मेरा मानना है कि नीतीश कुमार जी के नेतृत्व में एनडीए दो तिहाई बहुमत के साथ सरकार बनाएगी, लेकिन यह राजनीति का समय नहीं है।

हम सभी को मोदी जी के नेतृत्व में कोरोनावायरस से लड़ना चाहिए। अमित शाह ने कहा कि मैं परिवारवादी लोगों को आज कहता हूं कि अपना चेहरा आईना मैं देख लीजिए, 1990-2005 इनके शासन में बिहार की विकास दर 3.19 प्रतिशत थी, आज नीतीश जी के नेतृत्व में ये 11.3 प्रतिशत तक विकास दर पहुंचाने का काम एनडीए की सरकार ने किया है। उन्होंने कहा कि बिहार में हम लालटेन युग से LED युग तक आए हैं।

लूट एंड ऑर्डर से लॉ एंड ऑर्डर तक की यात्रा हमने की है। जंगल राज से जनता राज तक हम आए हैं। बाहुबल से विकास बल तक आए हैं और चारा घोटाले से डीबीटी तक की यात्रा मोदी जी के नेतृत्व में सफलतापूर्वक तय की है। उन्होंने कहा कि बिहार के लिए जो 1.25 लाख करोड़ रुपये का पैकेज हमने दिया था तो उसे हमने वास्तविकता में बदलने का काम किया है। शाह ने कहा कि कुछ वक्रदष्टा लोग चाहे कुछ भी कहे हमें अपने राह पर चलते जाना है।

लक्ष्य तक संघर्ष जारी रखना है। इस रैली के जरिए बिहार के लाखों लोग बीजेपी के मंच के साथ जुडे हैं। मैं सभी को मन पूर्णक प्रणाम करता हूं। हम जब कभी पीएम मोदी का नाम लेकर आपसे वोट मांगने आए तब-तब आपने हमारी झोली वोटों से भर दी और पूर्ण बहुमत दोनों बार दिया। इसी पूर्णबहुमत का असर है कि पूरा पूर्वी भारत आज विकास के रास्ते पर चल रहा है।

2014 में पीएम मोदी ने कहा था कि आज भारत के विकास में पूर्वी भारत का योगदान हमेशा रहा, लेकिन आजादी के बाद इस तरह की राजनीतिक चालें चली गई कि पूर्वी भारत में विकास नहीं होने दिया गया। मोदी ने इन छह सालों में पीएम मोदी ने करोड़ों गरीबों के जीवन में प्रकाश लाने की कोशिश की है, जिसका सबसे ज्यादा फायदा पूर्वी भारत को हुआ है। पूर्वांचल के लोगों को हुआ, बिहार, बंगाल और ओडिशा के लोगों को हुआ है।

 

पटना। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने रविवार को वर्चुअल रैली के जरिए बिहार में होने वाले विधानसभा का बिगुल फूंक दिया है। वर्चुअल रैली में शाह ने राष्ट्रीय जनता दल पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि अब जमाना लालटेन का नहीं एलईडी बल्ब का आ गया है। साथ ही कहा कि कोरोना महामारी में देश और विश्व में जिन लोगों ने जान गंवाई है उनके प्रति संवेदना प्रकट करता हूं। जो लोग कोरोना महामारी में युद्ध कर रहे हैं उनके लिए कामना करता हूं कि जीत कर आएं। साथ ही शाह ने कोरोना वॉरियर्स को सलाम किया। शाह ने कहा कि बिहार की जनता ने 2014 और 2019 में पूर्ण जनादेश देकर केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार बनाई। गृहमंत्री ने वर्चुअल रैली में यह घोषणा की कि नीतीश कुमार के नेतृत्व में ही बिहार में चुनाव लड़ा जाएगा। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में बिहार में चुनाव हैं। मेरा मानना है कि नीतीश कुमार जी के नेतृत्व में एनडीए दो तिहाई बहुमत के साथ सरकार बनाएगी, लेकिन यह राजनीति का समय नहीं है। हम सभी को मोदी जी के नेतृत्व में कोरोनावायरस से लड़ना चाहिए। अमित शाह ने कहा कि मैं परिवारवादी लोगों को आज कहता हूं कि अपना चेहरा आईना मैं देख लीजिए, 1990-2005 इनके शासन में बिहार की विकास दर 3.19 प्रतिशत थी, आज नीतीश जी के नेतृत्व में ये 11.3 प्रतिशत तक विकास दर पहुंचाने का काम एनडीए की सरकार ने किया है। उन्होंने कहा कि बिहार में हम लालटेन युग से LED युग तक आए हैं। लूट एंड ऑर्डर से लॉ एंड ऑर्डर तक की यात्रा हमने की है। जंगल राज से जनता राज तक हम आए हैं। बाहुबल से विकास बल तक आए हैं और चारा घोटाले से डीबीटी तक की यात्रा मोदी जी के नेतृत्व में सफलतापूर्वक तय की है। उन्होंने कहा कि बिहार के लिए जो 1.25 लाख करोड़ रुपये का पैकेज हमने दिया था तो उसे हमने वास्तविकता में बदलने का काम किया है। शाह ने कहा कि कुछ वक्रदष्टा लोग चाहे कुछ भी कहे हमें अपने राह पर चलते जाना है। लक्ष्य तक संघर्ष जारी रखना है। इस रैली के जरिए बिहार के लाखों लोग बीजेपी के मंच के साथ जुडे हैं। मैं सभी को मन पूर्णक प्रणाम करता हूं। हम जब कभी पीएम मोदी का नाम लेकर आपसे वोट मांगने आए तब-तब आपने हमारी झोली वोटों से भर दी और पूर्ण बहुमत दोनों बार दिया। इसी पूर्णबहुमत का असर है कि पूरा पूर्वी भारत आज विकास के रास्ते पर चल रहा है। 2014 में पीएम मोदी ने कहा था कि आज भारत के विकास में पूर्वी भारत का योगदान हमेशा रहा, लेकिन आजादी के बाद इस तरह की राजनीतिक चालें चली गई कि पूर्वी भारत में विकास नहीं होने दिया गया। मोदी ने इन छह सालों में पीएम मोदी ने करोड़ों गरीबों के जीवन में प्रकाश लाने की कोशिश की है, जिसका सबसे ज्यादा फायदा पूर्वी भारत को हुआ है। पूर्वांचल के लोगों को हुआ, बिहार, बंगाल और ओडिशा के लोगों को हुआ है।