Mozilla Firefox में पाया गया वायरस, कंपनी ने छुटकारा पाने का दिया सुझाव

Mozilla Firefox
Mozilla Firefox में पाया गया वायरस, कंपनी ने छुटकारा पाने का दिया सुझाव

नई दिल्ली। दुनिया में आज कल हैकिंग मानो एक खेल बन गया है। हैकर्स लोगों की निजी जानकारी हैक करने के लिए लगातार कोशिश करते आए हैं। इसके अलावा उन्होंने डाटा लीक या चोरी करने के लिए नए-नए तरीके भी अपनाएं हैं। लेकिन अब बड़ी टेक्नोलॉजी कंपनियां भी वायरस और साइबर अटैक का सामना कर रही हैं। वहीं, इन कंपनियों ने अपने डाटा को सुरक्षित रखने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाएं हैं। इस कड़ी में एक नया मामला सामने आया है, जिसमें दिग्गज सर्च इंजन कंपनी मोजिला फायरफॉक्स (Mozilla Firefox) में बग (वायरस) पाया गया है।

Virus Found In Mozilla Firefox Company Gave The Suggestion To Get Rid Off :

दरअसल, यह वायरस वाला बग यूजर्स के विंडो और मैक के डिवाइसेज की स्क्रीन को फ्रीज कर देता है, जिससे वेब ब्राउजर पूरी तरह से हैंग या ब्लॉक हो जाता है। रिपोर्ट की मानें तो हैकर्स इस बग के जरिए यूजर्स के डिस्प्ले को फ्रीज कर देते हैं। इसके अलावा यूजर्स को स्क्रीन पर एक मैसेज भी दिखाई देता है।

वहीं, नोटिफिकेशन की माने तो यूजर्स को चेतावनी दी जाती है कि उनका डिवाइस पाइरेटेड (नकली) ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम कर रहा है। नए और असली वर्जन को इंस्टॉल करने के लिए इस नंबर पर संपर्क करें। साथ ही हैकर्स यूजर्स को डिवाइस डिसेबल करने की धमकी भी देते हैं। मैसेज में लिखा है कि यूजर्स अपना डिवाइस बंद कर दें। हमने आपका पीसी ब्लॉक इसलिए किया है, क्योंकि आपका ऑपरेटिंग वर्जन नकली है। साथ ही इससे वायरस भी दूसरे यूजर्स तक पहुंच रहा है। अपने कंप्यूटर को बचाना चाहते हैं, तो चार मिनट के भीतर हमसे संपर्क करें।

साथ ही यूजर्स अगर मैसेज वाले टैब को बंद कर देते हैं, तो उनके पास एक पॉप-अप आता है। इसमें कहा जाता है कि यूजर्स इस वेबसाइट (वेबसाइट के नाम की जानकारी नहीं मिली) में जाकर इस यूजरनेम के साथ लॉगइन करें। लॉगइन करने के बाद कुछ नहीं होगा, लेकिन कैंसल करने पर दोबारा लॉगइन करने को कहा जाएगा।

मोजिला फायरफॉक्स ने जवाबदेही में कहा है कि यदि यूजर्स इस स्थिति में फंस जाते हैं, तो उन्हें तुरंत अपने पीसी को क्लोज फीचर के जरिए बंद करना होगा। यूजर्स को ध्यान देना होगा कि अगर वह सिस्टम को बंद कर देते हैं, तो दोबारा खोलने पर उन्हें बग वाला मैसेज दिखाई देगा। ऐसा इसलिए होगा क्योंकि यूजर्स ने टैब में रीओपन टैब वाले फीचर को एक्टिवेट किया होगा। इस बग से बचने के लिए रीओपन वाले फीचर को बंद रखना पड़ेगा।

नई दिल्ली। दुनिया में आज कल हैकिंग मानो एक खेल बन गया है। हैकर्स लोगों की निजी जानकारी हैक करने के लिए लगातार कोशिश करते आए हैं। इसके अलावा उन्होंने डाटा लीक या चोरी करने के लिए नए-नए तरीके भी अपनाएं हैं। लेकिन अब बड़ी टेक्नोलॉजी कंपनियां भी वायरस और साइबर अटैक का सामना कर रही हैं। वहीं, इन कंपनियों ने अपने डाटा को सुरक्षित रखने के लिए महत्वपूर्ण कदम उठाएं हैं। इस कड़ी में एक नया मामला सामने आया है, जिसमें दिग्गज सर्च इंजन कंपनी मोजिला फायरफॉक्स (Mozilla Firefox) में बग (वायरस) पाया गया है। दरअसल, यह वायरस वाला बग यूजर्स के विंडो और मैक के डिवाइसेज की स्क्रीन को फ्रीज कर देता है, जिससे वेब ब्राउजर पूरी तरह से हैंग या ब्लॉक हो जाता है। रिपोर्ट की मानें तो हैकर्स इस बग के जरिए यूजर्स के डिस्प्ले को फ्रीज कर देते हैं। इसके अलावा यूजर्स को स्क्रीन पर एक मैसेज भी दिखाई देता है। वहीं, नोटिफिकेशन की माने तो यूजर्स को चेतावनी दी जाती है कि उनका डिवाइस पाइरेटेड (नकली) ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम कर रहा है। नए और असली वर्जन को इंस्टॉल करने के लिए इस नंबर पर संपर्क करें। साथ ही हैकर्स यूजर्स को डिवाइस डिसेबल करने की धमकी भी देते हैं। मैसेज में लिखा है कि यूजर्स अपना डिवाइस बंद कर दें। हमने आपका पीसी ब्लॉक इसलिए किया है, क्योंकि आपका ऑपरेटिंग वर्जन नकली है। साथ ही इससे वायरस भी दूसरे यूजर्स तक पहुंच रहा है। अपने कंप्यूटर को बचाना चाहते हैं, तो चार मिनट के भीतर हमसे संपर्क करें। साथ ही यूजर्स अगर मैसेज वाले टैब को बंद कर देते हैं, तो उनके पास एक पॉप-अप आता है। इसमें कहा जाता है कि यूजर्स इस वेबसाइट (वेबसाइट के नाम की जानकारी नहीं मिली) में जाकर इस यूजरनेम के साथ लॉगइन करें। लॉगइन करने के बाद कुछ नहीं होगा, लेकिन कैंसल करने पर दोबारा लॉगइन करने को कहा जाएगा। मोजिला फायरफॉक्स ने जवाबदेही में कहा है कि यदि यूजर्स इस स्थिति में फंस जाते हैं, तो उन्हें तुरंत अपने पीसी को क्लोज फीचर के जरिए बंद करना होगा। यूजर्स को ध्यान देना होगा कि अगर वह सिस्टम को बंद कर देते हैं, तो दोबारा खोलने पर उन्हें बग वाला मैसेज दिखाई देगा। ऐसा इसलिए होगा क्योंकि यूजर्स ने टैब में रीओपन टैब वाले फीचर को एक्टिवेट किया होगा। इस बग से बचने के लिए रीओपन वाले फीचर को बंद रखना पड़ेगा।