1. हिन्दी समाचार
  2. विशाखापट्टनम गैस लीक: डरे हुए लोगों ने समुद्र किनारे फुटपाथ पर बिताई रात

विशाखापट्टनम गैस लीक: डरे हुए लोगों ने समुद्र किनारे फुटपाथ पर बिताई रात

Visakhapatnam Gas Leak Scared People Spend The Night On The Beach Sidewalk

आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम में गुरूवार को जहरीली गैस लीक होने से अबतक 12 लोगो की मौत हो गई है. जबकि 352 लोगों का इलाज चल रहा है. प्लांट में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ के 70 से अधिक जवान तैनात हैं और गैस को निष्क्रिय करने के साथ ही मामले की जांच की जा रही है. वहीं हादसे के बाद लोग डरे हुए हैं. दोबारा गैस लीक की अफवाहों के कारण कई लोगों ने अपनी रात समुद्र के बीच पर गुजारी. सैकड़ों की संख्या में लोग फुटपाथ पर ही सोए नजर आएं.

पढ़ें :- छोटी-छोटी गलतियों को ध्यान दिया जाए तो दुघर्टनाओं पर लगेगी रोक : सीएम योगी

ग्रेटर विशाखापट्टनम नगर निगम (जीवीएमसी) के कमिश्नर ने कहा कि कल यानी गुरुवार रात गैस का ताजा रिसाव नहीं हुआ और सोशल मीडिया अफवाह ने शहर के कई हिस्सों में लोगों में दहशत पैदा कर दी. पुलिस ने लोगों को शांत रहने और ऐसे संदेशों पर विश्वास न करने के लिए कहा. सरकार का दावा है कि स्थिति नियंत्रण में है.

वहीं, गृह मंत्रालय ने शुक्रवार को कहा कि मीडिया रिपोर्ट्स हैं कि एक और रिसाव हुआ था. यह स्पष्ट है कि यह एक मामूली तकनीकी रिसाव था. कंटेनर को नियंत्रण में लाना आवश्यक है. उसे नियंत्रित कर लिया गया है और न्यूट्रलाइजेशन की प्रक्रिया पहले से ही प्रोसेस में है. हालात नियंत्रण में है.

गौरतलब है कि एलजी पॉलिमर के प्लांट में शुक्रवार देर रात 11 बजे फिर से गैस लीक की खबर आई थी. इसके बाद एनडीआरएफ की टीम ने पांच गांवों को खाली करा लिया था. अब एनडीआरएफ के अधिकारियों का कहना है कि प्लांट में गैस रिसाव की नई घटना नहीं हुई है. यह मामूली तकनीकी रिसाव था.

पढ़ें :- कांग्रेस नए साल के कैलेंडर के जरिए पहुंचेगी घर-घर, प्रियंका गांधी की लगी हैं तस्वीरें

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...