1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. Vivah Panchami 2021: विवाह पंचमी के दिन रामचरितमानस के बाल कांड का पाठ करने की भी परंपरा है

Vivah Panchami 2021: विवाह पंचमी के दिन रामचरितमानस के बाल कांड का पाठ करने की भी परंपरा है

हर साल मार्गशीर्ष मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को विवाह पंचमी का त्योहार मनाया जाता है। इस बार विवाह पंचमी बुधवार आठ दिसंबर 2021 को मनाई जाएगी।

By अनूप कुमार 
Updated Date

विवाह पंचमी 2021 : हर साल मार्गशीर्ष मास की शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को विवाह पंचमी का त्योहार मनाया जाता है। इस बार विवाह पंचमी बुधवार आठ दिसंबर 2021 को मनाई जाएगी। इस दिन भगवान राम और माता सीता के मंदिरों में भव्य धार्मिक आयोजन किए जाते हैं। इसी दिन को लेकर एक और मान्यता है कि प्रभु श्री राम के भक्त गोस्वामी तुलसीदास ने अपनी रचना रामचरितमानस को पूर्ण किया था।

पढ़ें :- Ganga Dussehra 2022 : गंगा दशहरा के दिन गंगा नदी में स्नान करने की परंपरा है, लोग उल्लासपूर्वक धार्मिक आयोजन करते है

प्राचीन हिंदू धर्मग्रंथों में इस त्योहार की विशेष महिमा के बारे में वर्णित है। इतना महत्व के होने के बाद भी इस दिन विवाह नहीं किए जाते है। ऐसी मान्यता है कि भगवान राम और माता सीता का ​वैवाहिक जीवन संघर्षों से भरा हुआ था। इसलिए इस दिन विवाह नहीं किए जाते है। इस उत्‍सव को खासतौर से नेपाल और मिथिालांचल में मनाया जाता है। इस दिन रामायण के बाल कांड का पाठ करने की भी परंपरा है।

विवाह पंचमी शुभ मुहूर्त
मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष तिथि आरंभ- 07 दिसंबर 2021 को रात 11 बजकर 40 मिनट से
मार्गशीर्ष शुक्ल पक्ष तिथि समाप्त- 08 दिसंबर 2021 को रात 09 बजकर 25 मिनट पर

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...