आज घर पहुंच जाएंगे इराक में मारे गए 38 भारतीयों के शव

isis, आईएसआईएस
आज घर पहुंच जाएंगे इराक में मारे गए 38 भारतीयों के शव
नई दिल्ली। आईएसआईएस(ISIS) द्वारा जून 2014 में अपहरण कर मारे गए 39 भारतीयों में से 38 के शव सोमवार को घर पहुंच जाएंगे। एक शव का डीएनए पूरी तरह से मैच नही हो पाया, जिसके चलते वो शव वहां से लाने के लिए क्लियरेंस नही मिल सका। बताया जाता है कि विदेश राज्यमंत्री जनरल ​वीके सिंह सभी शवों को लेकर डेढ़ बजे अमृतसर पहुंचेगे। इराक में मारे गए पंजाब के 27 और हिमाचल के चार लोगों के अवशेष अमृतसर में…

नई दिल्ली। आईएसआईएस(ISIS) द्वारा जून 2014 में अपहरण कर मारे गए 39 भारतीयों में से 38 के शव सोमवार को घर पहुंच जाएंगे। एक शव का डीएनए पूरी तरह से मैच नही हो पाया, जिसके चलते वो शव वहां से लाने के लिए क्लियरेंस नही मिल सका। बताया जाता है कि विदेश राज्यमंत्री जनरल ​वीके सिंह सभी शवों को लेकर डेढ़ बजे अमृतसर पहुंचेगे। इराक में मारे गए पंजाब के 27 और हिमाचल के चार लोगों के अवशेष अमृतसर में उतारे जाएंगे। इसके बाद शाम 6 बजे कोलकाता और 8 बजे पटना पहुंचेंगे। विदेश मंत्रालय के मुताबिक परिजनों को पार्थिव शरीर के अवशेषों के लेने आने की जरूरत नही है, सभी के पा​र्थिव शरीर उनके घरों तक सरकार पहुंचाएगी।

आपको बता दें कि संसद भवन में विदेशमंत्री सुषमा स्वराज ने बताया था कि जून 2014 में आईएसआईएस ने इराक के मोसुल से 40 भारतीयों को अपहरण कर बदूश ले जाया गया था, इस दौरान एक भारतीय वहां से भाग निकला था। बाद में आईएसआईएस ने सभी 39 भारतीयों की हत्या कर दी थी।

{ यह भी पढ़ें:- दक्षिण फ्रांस के सुपरमार्केट में आतंकी हमला, ISIS ने ली ज़िम्मेदारी, 2 की मौत }

गौरतलब हो कि बीते वर्ष मोसुल से आईएसआईएस का सफाया होने के बाद विदेश राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह मासुल गए और लापता भारतीयों का पता लगाने का प्रयास किया। इसी दौरान उन्हे जानकारी मिली कि मोसुल शहर के एक टीले में भारी मात्रा में शव दफनाए गए हैं। सुराग लगने पर विदेश मंत्री और राजदूत ने वहां के खण्डहरनुमा मकान डेरा डालकर शवों की खोज करने लगे।

इस बारे मे सुषमा स्वराज ने प्रेस कांन्फ्रेंस में कहा कि हमने इराक सरकार के साथ मिलकर डीप पेनिट्रेशन रडार से सच्चाई पता लगाने का प्रयास किया और पुख्ता जानकारी मिलने के बाद खुदाई करवाकर शवों को निकालकर उनका डीएनए टेस्ट कराया। बता दें कि भारतीयों के अवशेषमिलिट्री ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट लाने बोइंग सी-17 ग्लोबमास्टर से लाए जा रहे हैं। इराक में भारतीय राजदूत प्रदीप राजपुरोहित ने बताया कि अवशेषों को रविवार को ही भारतीय अफसरों को सौंप दिया गया है।

{ यह भी पढ़ें:- मोसुल में लापता 39 भारतीय को ISIS ने मारा: सुषमा स्वराज }

Loading...