1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. तीसरा बच्चा पैदा करने पर छिने वोटिंग अधिकार, न बने आधार कार्ड : महंत नरेंद्र गिरी

तीसरा बच्चा पैदा करने पर छिने वोटिंग अधिकार, न बने आधार कार्ड : महंत नरेंद्र गिरी

योगी सरकार की नई जनसंख्या नीति का अखाड़ा परिषद ने स्वागत और समर्थन किया है। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि, जनसंख्या विस्फोट देश और प्रदेश में कई प्रमुख समस्याओं का कारण है। उन्होंने कहा कि लगातार बढ़ रही जनसंख्या पर तत्काल रोक लगाना जरूरी है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Voting Rights Taken Away After Giving Birth To Third Child Aadhar Card Should Not Be Made Mahant Narendra Giri

प्रयागराज। योगी सरकार की नई जनसंख्या नीति का अखाड़ा परिषद ने स्वागत और समर्थन किया है। अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि, जनसंख्या विस्फोट देश और प्रदेश में कई प्रमुख समस्याओं का कारण है। उन्होंने कहा कि लगातार बढ़ रही जनसंख्या पर तत्काल रोक लगाना जरूरी है।

पढ़ें :- योगी राज में अब तक 139 अपराधी एनकाउंटर में ढेर, 15 अरब से अधिक संपत्ति की जब्त

महंत ने मुस्लिम धर्म गुरुओं से की अपील

महंत गिरी ने कहा कि, जनसंख्या पर नियंत्रण के लिए सख्त कानून बनाना चाहिए, जो कानून देश और प्रदेश में रहने वाले हर नागरिक को मानना बाध्यकारी हो। जनसंख्या बढ़ने का सीधा प्रभाव अच्छी शिक्षा और चिकित्सा व्यवस्था पर भी पड़ रहा है। मुस्लिम धर्मगुरुओं के विरोध और इसे अल्लाह की देन बताए जाने पर महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि, पूछा आखिर बच्चा पैदा करने में अल्लाह की क्या देन है?

महंत नरेंद्र गिरी ने मुस्लिम धर्मगुरुओं से अपील की है कि, वह भी इस कानून को सहृदयता के साथ स्वीकार करें। साथ ही मुस्लिम समाज में लोगों को कम बच्चे पैदा करने के लिए जागरूक भी करें।

तीसरा बच्चा पैदा करने पर न हो वोट का अधिकार

पढ़ें :- प्रियंका गांधी ने यूपी से चुनाव लड़ने और मुख्यमंत्री कैंडीडेट बनने के सवाल पर दिया ये दिलचस्प जबाव

उन्होंने कहा कि अगर दो बच्चे के बाद तीसरा बच्चा कोई पैदा करता है। तो उसे वोट देने का अधिकार न हो, न ही चुनाव लड़ने का अधिकार हो। महंत नरेंद्र गिरी ने कहा कि उसका आधार कार्ड भी न बने। इसके साथ ही सरकार की तमाम योजनाओं से भी उसे वंचित कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि, तभी इस कानून का सही मायने में सख्ती से पालन हो सकता है।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष ने कहा कि, मुस्लिम समाज में तीन शादियों की छूट है। ऐसे में किसी भी मुस्लिम व्यक्ति को हर पत्नी से दो बच्चे पैदा करने की इजाजत कतई नहीं होनी चाहिए। पत्नी चाहे तीन हों लेकिन बच्चे दो ही होने चाहिए।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X