बेटी बन जाए ‘मिस वर्ल्ड’ इसलिए काट देते हैं पेट की आंतें, सिल देते हैं जीभ, जानें खौफनाक सच

नई दिल्ली। भारत की मानुषी छिल्लर ने मिस वर्ल्ड 2017 के खिताब पर अपना कब्जा जमा लिया हैं। देशभर में खुशी का माहौल है, लोग बधाई दे रहें हैं, सोशल मीडिया पर पिछले दो दिनों से मानुषी ट्रेंड कर रही हैं। वाकई यह गर्व का पल है जब किसी बेटी ने एक बार फिर देश का मान बढ़ाया। वैसे शायद ही किसी को खबर होगी कि तमाम देशों की लड़कियां इस सपने को पूरा करने के लिए कैसी कैसी जोखिमें उठाने को तैयार रहती हैं, उन्हें फैशन इंडस्ट्री में आगे बढ़ाने के लिए किस कदर प्रताड़ित किया जाता हैं।

इंटेरनेशन लेवल पर कोई भी खिताब जीतना बेहद खास होता है, चाहे वो खेल में, सिनेमा में, साहित्य में या फिर सुंदरता में। हर इंसान का सपना होता है कि वह अपनी निजी लाइफ में कुछ ऐसा करे जिसपर पूरे देश को फख्र हो हालांकि इस सपने को साकार कर पाना इतना आसान नहीं है। अब बात करते है फैशन की- विश्व में एक ऐसा देश है जिसकी पहचान फैशन इंडस्ट्री को लेकर है… जिस देश से कम से कम 6 मिस वर्ल्ड, 7 मिस यूनिवर्स, 7 मिस इंटरनेशनल और 2 मिस अर्थ चुनी जा चुकी हैं। दुनिया को कई खूबसूरत सितारे देने वाले देश का नाम है- वेनेजुएला। कुछ महीने पहले यह देश गंभीर आर्थिक संकट की वजह से चर्चा में रहा था लेकिन इसकी पहचान ब्यूटी इंडस्ट्री को लेकर सालों पहले से रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो इस देश के ब्यूटी इंडस्ट्री के पीछे का सच बेहद ही भयावह है, यहां लड़कियों पर ‘ब्यूटी क्वीन’ बनाने के लिए भारी दबाव बनाया जाता है और उनके साथ दर्द देने वाला व्यवहार किया जाता है। डेली मेल की एक रिपोर्ट में सामने आया था कि यहां लड़कियों को तैयार करने के लिए बचपन से उन पर जुल्म किया जाता है। खासकर गरीब परिवार के लोग समझते हैं कि बेटियां खिताब जीत ले तो उनकी जिदंगी बेहतर हो जाएगी। यहां 4 साल तक की लड़कियों को फैशन स्कूल भेजा जाने लगता है। फैशन इंडस्ट्री से जुड़े लोग गरीब परिवारों को ऐसा करने के लिए लालच भी देते हैं।

{ यह भी पढ़ें:- जानिए किन देशों ने जीते कितने मिस वर्ल्ड के खिताब, पहले स्थान पर है ये देश }

ऐसे प्रताड़ित की जाती हैं बेटियाँ
लड़कियों की सर्जरी के अलावा, बट इंजेक्शन, स्लिम बॉडी के लिए इंजेक्शन भी दिए जाते हैं। कई बार जीभ में प्लास्टिक सिल दी जाती है, कई लड़कियों के पेट की आंत तक काट दी जाती है, जिससे उन्हें ज्यादा भूख न लगे और वे स्लिम रहें। रिपोर्ट के मुताबिक, 12 साल तक की लड़की का बट इम्प्लांट किया जाता है। वेस्ट को दर्द देने वाले स्ट्रैप से कई हफ्तों के लिए क्रश किया जाता है। वजन घटाने के लिए लड़कियों के पैरेंट्स दबाव बनाते हैं।

{ यह भी पढ़ें:- वेनेजुएला में कैदियों-पुलिस के बीच हिंसक झड़प, 37 की मौत }


नोट- सभी तस्वीरें स्टोरी रिप्रजेंटेशन के लिए इस्तेमाल की गई हैं। 

Loading...