सिंघाड़े के इन बेमिसाल फायदों को सुन कर हो जायेंगे हैरान

नई दिल्ली: पानी फल के नाम से मशहूर सिंघाड़ा सेहत के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। सिंघाड़े में पौष्टिक तत्व भरपूर होते हैं। सिंघाड़ा सर्दियाँ शुरू होते ही बाज़ारों में आने लगता है और लोग बड़े चाव से खाते भी हैं। यह फल न केवल कई बीमारियों के लिए फायदेमंद है बल्कि धार्मिक दृष्टि से भी इस फल को पवित्र और पौष्टिक माना जाता है। लेकिन क्या आप जानते हैं इसके अनेक फायदे हैं। यह कई बिमारियों से आपकी रक्षा करता है।




जानिए सिंघाड़ों के मुख्य फायदे

1. अस्थमा के मरीजों के लिए सिघांड़ा बहुत फायदेमंद होता है। सांस संबंधी बीमारियों के लिए भी सिंगाड़ा नियमित रूप से खाने पर बिमारी जड़ से दूर हो जाती है।
२. सिघाड़ा खाने से फटी एड़ियों को सही किया जा सकता है। अगर आपके शरीर में कहीं भी दर्द या सूजन है तो उस स्थान पर इसका लेप लगाने से बहुत जल्द सही हो जायेगा।
3. सिंघाड़ा बवासीर जैसी मुश्किल बीमारियों से बचाने में भी हमारे मदद करता है।
4. सिंघाड़ा खाने से हड्डियां और दांत दोनों ही मजबूत रहते हैं क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में कैल्शियम पाया जाता है।
5. आँखों की रोशनी के लिए भी सिंघाड़ा बहुत अच्छा होता है।
6. सिंघाडा शरीर को ऊर्जा देता है, इसलिये उसे व्रत और उपवास के खाने में भी अलग-अलग तरह से शामिल किया जाता है। इसमें आयोडीन भी पाया जाता है, जो गले संबंधी रोगों से रक्षा करता है और थाइरॉइड ग्रंथि‍ को सुचारू रूप से कार्य करने के लिए प्रेरित करता है।
7. प्रेग्नेंसी में सिंघाड़ा खाने से मां और बच्चा दोनों स्वस्थ रहते हैं। इससे गर्भपात का खतरा भी कम होता है इसके अलावा सिंघाड़ा खाने से पीरियड्स की समस्याएं भी ठीक होती हैं|
8. पाचन तंत्र के लिए सिंघाड़ा बहुत अच्छा होता है साथ ही बुढ़ापे में होने वाली कई बीमारियों से भी बचाता है।
9. नीबू के रस में सिंघाड़े को घिसकर लगाने या पीसकर लेप करने से दाद और चर्मरोग की समस्या दूर होती है।
10. पीलिया के मरीजों के लिए सिंघाड़ा लाभदायक होता है। पीलिया में सिंघाड़ा खाना और इसका जूस पीना काफी लाभ देता है और पीलिया ठीक करने में मदद करता है।
11. अधिक घबराहट और ह्रदय की तेज धड़कन होने पर रोजाना सिंघाड़ा खाने से पौष्टिक शक्ति मिलने से बहुत फायदा होता है।

आस्था सिंह की रिपोर्ट