1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. हमको तो बस तलाश नए रास्‍तों की है, संजय राउत के इस ट्वीट के हैं क्या मायने, जानिए

हमको तो बस तलाश नए रास्‍तों की है, संजय राउत के इस ट्वीट के हैं क्या मायने, जानिए

महाराष्ट्र की सियासत में मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के लेटर बम के बाद हड़कंप मचा हुआ है। पूर्व पुलिस कमिश्रर ने पत्र लिखकर कहा है कि गृहमंत्री अनिल देशमुख सचिन वाझे से हर महीने 100 करोड़ रुपये की मांग की थी।

By शिव मौर्या 
Updated Date

We Are Just Looking For New Paths What Does This Tweet By Sanjay Raut Mean Know

मुंबई। महाराष्ट्र की सियासत में मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह के लेटर बम के बाद हड़कंप मचा हुआ है। पूर्व पुलिस कमिश्रर ने पत्र लिखकर कहा है कि गृहमंत्री अनिल देशमुख सचिन वाझे से हर महीने 100 करोड़ रुपये की मांग की थी।

पढ़ें :- देवेंद्र फडणवीस और एनसीपी चीफ के मुलाकात के हैं क्या मायने, संजय राउत ने कहीं ये बातें?

परमबीर सिंह के पत्र के बाद ​भाजपा महाराष्ट्र विकास अघाड़ी सरकार पर हमलावर हो गयी है और अनिल देशमुख का इस्तीफा मांग रही है। इस बीच शिवसेना नेता और राज्यसभा सांसद संजय राउत का एक ट्वीट आया है, जो महाराष्ट्र की सियासत से जोड़कर देखा जा रहा है।

पढ़ें :- हाईकोर्ट में महाराष्ट्र सरकार की दलील, परमवीर सिंह ने जांच में सहयोग किया तो 9 जून तक नहीं होंगे गिरफ्तार

संजय राउत ने अपने ट्वीट में जावेद अख्तर के एक शेर को शेयर किया है, जिसमें लिखा है- ‘हमको तो बस तलाश नए रास्‍तों की है, हम हैं मुसाफिर ऐसे जो मंजिल से आए हैं।’

हालांकि, इस ट्वीट के राजनीतिक उद्देश्य हैं या नहीं, ये तो संजय राउत ही जान सकते हैं। भले ही शिवसेना नेता ने अपने ट्वीट में साफ तौर पर कुछ नहीं लिखा, मगर ऐसे मौके पर जब महाराष्ट्र विकास अघाड़ी संकट के दौर से गुजर रही है और गठबंधन की मजबूती पर सवाल उठ रहे हैं, ऐसे में यह किसी भविष्य के इशारे से कम भी नहीं है।

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X