हम शांति चाहते हैं, लेकिन पड़ोसी हमें कमजोर न समझे: नवाज शरीफ

इस्लामाबाद| पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने मंगलवार को कहा कि पाकिस्तान एक शांतिप्रिय देश है, लेकिन इसे एक कमजोरी के तौर पर नहीं देखा जाना चाहिए। ‘जियो टीवी’ ने प्रधानमंत्री शरीफ के बयान के हवाले से कहा कि संघर्ष के बजाय सहयोग और संदेह के बजाय साझा समृद्धि हमारी नीति की पहचान है।




शरीफ रिसालपुर में असगर खान पाकिस्तान वायु सेना अकादमी में कैडेट को संबोधित कर रहे थे। शरीफ ने कहा कि पड़ोसी देशों से दोस्ताना संबंध बनाए रखना पाकिस्तान की नीति है लेकिन इस कमजोरी समझने की गलती नहीं करना चाहिए। उन्होंने कहा, “हम अपनी संप्रभुता का बचाव और अपनी स्वतंत्रता की रक्षा करने से अनजान नहीं रह सकते।”




शरीफ की यह टिप्पणी पाकिस्तान द्वारा कथित भारतीय जासूस कुलभूषण जाधव को जासूसी करने और पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध छेड़ने के आरोप में मौत की सजा सुनाए जाने के एक दिन बाद आई है। भारत ने चेतावनी दी है कि यदि जाधव को फांसी दी गई तो द्विपक्षीय संबंधों पर इसका असर पड़ेगा।