हमें आधुनिक हथियारों की जरूरत पड़ सकती है: आर्मी चीफ रावत

bipin rawat

नई दिल्ली। सीमा पर बढ़ते तनाव को देख जनरल बिपिन रावत ने पहले ही आगाह कर दिया है। उन्होंने कहा है कि आने वाले समय में हमें आधुनिक हथियारों की जरूरत पड़ सकती है। सीमा पर हम तत्परता के साथ डटे हुए हैं लेकिन सतर्कता बरतने में ही सावधानी है। उन्होंने कहा कि हम किसी से कमजोर नहीं हैं लेकिन आने वाले समय में हमें आधुनिक हथियार और तकनीक की जरूरत पड़ सकती है।

We May Need Modern Weapons Army Chief Rawat Goo :

दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में जनरल रावत कहा कि हमें पड़ोसी मुल्कों का सामना करने के लिए आधुनिक हथियार जरूरत है। और हमें जरूरतों के हिसाब से चींजों को बना कर रखना चाहिए। भविष्य की लड़ाई में हमें इन सभी चीजों की जरुरत पड़ सकती है। इस दौरान उन्होंने कहा कि आज के दौर में हर देश अपने तकनीक और आधुनिकता पर काम कर रहे हैं ऐसे में हमने इस ओर ध्यान नहीं दिया तो हम पीछे छूट सकते है।

उन्होंने कहा मैं कि मुझे विश्वास है कि सीबीआरएन जैसे हमलों से निपटने के लिए डीआरडीडो लंबे समय तक के कार्यक्रम को बनाए रखने में कामयाब होगी। हमें आधुनिक हथियार और तकनीक की जरूरत होगी। यह देखना होगा कि भविष्य में लड़ाई के लिए हमें किस चीज की जरूरत होगी। जनरल रावत ने कहा है कि यह सही है कि चीन लगातार दबाव बना रहा है। हम इसे डील कर रहे हैं। हम अपनी सीमा किसी को घुसने नहीं देंगे।

नई दिल्ली। सीमा पर बढ़ते तनाव को देख जनरल बिपिन रावत ने पहले ही आगाह कर दिया है। उन्होंने कहा है कि आने वाले समय में हमें आधुनिक हथियारों की जरूरत पड़ सकती है। सीमा पर हम तत्परता के साथ डटे हुए हैं लेकिन सतर्कता बरतने में ही सावधानी है। उन्होंने कहा कि हम किसी से कमजोर नहीं हैं लेकिन आने वाले समय में हमें आधुनिक हथियार और तकनीक की जरूरत पड़ सकती है।दिल्ली में आयोजित एक कार्यक्रम में जनरल रावत कहा कि हमें पड़ोसी मुल्कों का सामना करने के लिए आधुनिक हथियार जरूरत है। और हमें जरूरतों के हिसाब से चींजों को बना कर रखना चाहिए। भविष्य की लड़ाई में हमें इन सभी चीजों की जरुरत पड़ सकती है। इस दौरान उन्होंने कहा कि आज के दौर में हर देश अपने तकनीक और आधुनिकता पर काम कर रहे हैं ऐसे में हमने इस ओर ध्यान नहीं दिया तो हम पीछे छूट सकते है।उन्होंने कहा मैं कि मुझे विश्वास है कि सीबीआरएन जैसे हमलों से निपटने के लिए डीआरडीडो लंबे समय तक के कार्यक्रम को बनाए रखने में कामयाब होगी। हमें आधुनिक हथियार और तकनीक की जरूरत होगी। यह देखना होगा कि भविष्य में लड़ाई के लिए हमें किस चीज की जरूरत होगी। जनरल रावत ने कहा है कि यह सही है कि चीन लगातार दबाव बना रहा है। हम इसे डील कर रहे हैं। हम अपनी सीमा किसी को घुसने नहीं देंगे।