कानून-व्यवस्था के लिए केन्द सरकार की करूंगा हर संभव मदद: अरविन्द केजरीवाल

arvind kejriwal
कानून-व्यवस्था के लिए केन्द सरकार की करूंगा हर संभव मदद: अरविन्द केजरीवाल

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ आए दिन बयानबाजी करने वाले आप संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि कानून व्यवस्था में सुधार के लिए वह केंद्र सरकार की हर संभव मदद करेंगे। केजरीवाल का यह बयान राष्ट्रीय राजधानी में अपराध की घटनाओं में वृद्धि के लिये उनकी पार्टी द्वारा भाजपा को जिम्मेदार ठहराए जाने के एक दिन बाद आया है।

We Will Give All Possible Help Of Central Government For Law And Order Says Arvind Kejriwal :

बता दें कि दिल्ली में शनिवार से नौ हत्याएं हुई हैं। उन्होंने कहा, ”दिल्ली में कानून-व्यवस्था की हालत में सुधार के लिए हमें साथ मिलकर काम करने की जरूरत है। दिल्ली सरकार ने बड़े पैमाने पर सीसीटीवी कैमरे लगाने का काम शुरू किया है। इससे जरूरी कदम उठाने में मदद मिलेगी।

केजरीवाल ने कहा, ”सभी एजेंसियों, सरकारों और दिल्ली के निवासियों को साथ मिलकर काम करने की आवश्यकता है। यदि केन्द्र सरकार राजधानी की कानून व्यवस्था को सुधारने की दिशा में कदम उठाती है तो हम उसकी हर संभव मदद करेंगे। राजनीति को अलग रखकर हमें शहर में कानून-व्यवस्था में सुधार करने के लिए मिलकर काम करने की आवश्यकता है।

नई दिल्ली। भारतीय जनता पार्टी के खिलाफ आए दिन बयानबाजी करने वाले आप संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने कहा कि कानून व्यवस्था में सुधार के लिए वह केंद्र सरकार की हर संभव मदद करेंगे। केजरीवाल का यह बयान राष्ट्रीय राजधानी में अपराध की घटनाओं में वृद्धि के लिये उनकी पार्टी द्वारा भाजपा को जिम्मेदार ठहराए जाने के एक दिन बाद आया है। बता दें कि दिल्ली में शनिवार से नौ हत्याएं हुई हैं। उन्होंने कहा, ''दिल्ली में कानून-व्यवस्था की हालत में सुधार के लिए हमें साथ मिलकर काम करने की जरूरत है। दिल्ली सरकार ने बड़े पैमाने पर सीसीटीवी कैमरे लगाने का काम शुरू किया है। इससे जरूरी कदम उठाने में मदद मिलेगी। केजरीवाल ने कहा, ''सभी एजेंसियों, सरकारों और दिल्ली के निवासियों को साथ मिलकर काम करने की आवश्यकता है। यदि केन्द्र सरकार राजधानी की कानून व्यवस्था को सुधारने की दिशा में कदम उठाती है तो हम उसकी हर संभव मदद करेंगे। राजनीति को अलग रखकर हमें शहर में कानून-व्यवस्था में सुधार करने के लिए मिलकर काम करने की आवश्यकता है।