अपनी राशि से जानें क्या है आपकी सबसे बड़ी कमजोरी

हर राशि के जातकों के स्वभाव में अलग-अलग कमजोरी होती है. आइए जानते हैं क्या है आपकी राशि की कमजोरी?

मेष राशि- मेष राशि वालों को आलस्य और लापरवाही की बुरी आदत होती है. इस आदत का मुख्य कारण इनकी कुंडली का बुध होता है. प्रातः काल जल्दी उठना और सूर्य देवता की उपासना करना इनके लिए आवश्यक है .

{ यह भी पढ़ें:- भाग्यशाली होते हैं ऐसी हस्त रेखा वाले लोग, कभी नहीं होती पैसों की कमी }

वृष राशि- अपशब्दों का प्रयोग करना और अत्यधिक उत्तेजित होना इनकी बुरी आदत है. इस आदत के पीछे आम तौर पर इनका मंगल होता है. मांसाहार का प्रयोग कम करें और लाल रंग से बचाव करें .

मिथुन राशि- इनको आत्म प्रशंसा और दूसरों की निंदा करने की आदत होती है. इस आदत के पीछे इनका बृहस्पति नामक ग्रह होता है. आपको हनुमान जी की उपासना करनी चाहिए और मीठी चीज़ थोड़ी कम खानी चाहिए.

{ यह भी पढ़ें:- राशि के अनुसार धारण करें धातु, सभी समस्याओं का होगा अंत }

कर्क राशि- इनको दूसरों का मजाक उड़ाने और बात बात में रोने की आदत होती है. ये हद से ज्यादा भावुक भी होते हैं. यहाँ चन्द्रमा के कमजोर होने से ये आदत पैदा हो जाती है. इनके लिए शिव जी की उपासना करना और खान पान पर ध्यान रखना आवश्यक है.

सिंह राशि- इनको बात बात में क्रोध करने और हाथापाई करने की बुरी आदत होती है. अहंकार में कभी कभी अपना सब कुछ नष्ट कर डालते हैं. इस आदत के पीछे इनकी कुंडली का मंगल होता है. इसके लिए इनको काले रंग से और नशे की आदत से बचाव करना चाहिए.

कन्या राशि- इनको हर जगह धन कमाने और अपने स्वार्थ के पीछे भागने की आदत होती है. स्वार्थ में अक्सर इनके हाथ से रिश्ते छूट जाते हैं. इस  आदत के पीछे इनकी कुंडली का शनि होता है. छुटकारे के लिए इनको हल्के नीले रंग का प्रयोग करना चाहिए और पौधे लगाकर उनकी देखभाल करनी चाहिए.

{ यह भी पढ़ें:- अपने काम के अनुसार धारण करे रुद्राक्ष, हमेशा होंगे कामयाब }

तुला राशि- इस राशी के लोगों को दिखावा करने और पैसा उड़ाने की आदत होती है. इनको रोज रोज प्रेम होता रहता है. इस आदत के पीछे इनकी कुंडली का चन्द्रमा जिम्मेदार होता है. इस आदत से छुटकारे के लिए इनको शनि देव की आराधना करनी चाहिए और मित्रता कम करनी चाहिए.

वृश्चिक राशि- इस राशी के लोगों को बार बार परिवर्तन करने और नशा करने की बुरी आदत होती है. ये लोग दूसरों के भले में अपना नुकसान कर डालते हैं. इस आदत के पीछे इनकी कुंडली में नीच का चन्द्रमा होता है. इस लत से छुटकारा पाने के लिए इनको नियमित दूध पीना चाहिए और सफेद रंग का खूब प्रयोग करना चाहिए.

धनु राशि- इस राशी के लोगों में झूठ बोलने और उल्टा सीधा खाने की बुरी आदत होती है. कभी कभी इनकी वाणी बहुत ज्यादा कठोर हो जाती है. इस आदत के पीछे इनका बुध और शनि जिम्मेदार होते हैं. इस लत से छुटकारे के लिए इनको सूर्य को जल अर्पित करना चाहिए तथा शनिवार को सात्विक भोजन खाना चाहिए.

मकर राशि- इस राशी के लोगों को हर समय दूसरों की बुराई और ईर्ष्या करने की बुरी आदत होती है.ये कल्पना में समस्याएं पैदा कर डालते हैं.  इस आदत के पीछे इनका शनि और चन्द्रमा होता है. इस लत से छुटकारे के लिए इनको हनुमान जी की उपासना करनी चाहिए और लाल रंग से बचाव करना चाहिए.

{ यह भी पढ़ें:- आखिर हाथों में क्यों पहना जाता है धातु का कड़ा, क्या वजह बताते हैं ज्योतिष? }

कुम्भ राशि- इस राशी के लोगों को नशे और काम टालने की बुरी आदत होती है. अक्सर इनके पास कोई अच्छा दोस्त या साथी नहीं होता. इस कमजोरी के पीछे इनका शुक्र जिम्मेदार होते हैं . इनको प्रातः जल्दी उठना चाहिए तथा सप्ताह में एक दिन उपवास जरूर रखना चाहिए.

मीन राशि- इनके अन्दर अहंकार और आलस्य की बुरी आदत होती है. ये कभी कभी अपनी भलाई की बातें भी नहीं मानते हैं. इसके पीछे इनका शुक्र और बृहस्पति जिम्मेदार होते हैं. इनको गायत्री मंत्र का जाप करना चाहिए तथा सुगंध का प्रयोग कम करना चाहिए.

Loading...