1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. दिल्लाी-एनसीआर में मौसम का मिजाज बदला, गुरुग्राम बस अड्डा बना बच्चों के लिए तालाब

दिल्लाी-एनसीआर में मौसम का मिजाज बदला, गुरुग्राम बस अड्डा बना बच्चों के लिए तालाब

By सोने लाल 
Updated Date

नई दिल्ली: बीते दिन मंगलवार के बाद बुधवार को भी दिल्लाी-एनसीआर में मौसम का मिजाज बदला हुआ नजर आया। सुबह से बादल छाये हुए हैं। और दिल्ली से लेकर गाजियाबाद और गुरुग्राम तक झमाझम बारिश हो रही है। बिजली के चमकने के साथ बीच-बीच में बादल भी गरज रहे हैं। दो दिन लगातार हो रही बारिश के चलते हो रही भयानक गर्मी और उमस से निजात मिली है। मौसम विभाग ने अनुमान जताया है कि पूरे हफ्ते हरियाणा में बारिशा होगा। वहीं बारिश से गुरुग्राम बस अड्डा बच्चों के लिए तालाब बन गया है। जिससे बच्चे उसमें तैरते देखे गए।

मिंटो ब्रिज के नीचे आवाजाही हुई सामान्य

मिंटो ब्रिज के नीचे अब आवाजाही सामान्य हो गई है। 12.25 बजे यह ट्वीट कर दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने यह जानकारी दी। दिल्ली ट्रैफिक पुलिस मिंटो ब्रिज पर जल जमाव के कारण ट्रैफिक बाधित हो गया है।

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने ट्वीट कर जानकारी दी है और लोगों से अनुरोध किया है कि वह किसी दूसरे रास्ते का उपयोग करें।

यह ट्वीट दिल्ली पुलिस ने 11.56 बजे किया।

WHO बिल्डिंग के पास जल भराव

WHO बिल्डिंग के पास जल भराव के कारण रिंग रोड से भैरो मार्ग की तरफ यातायात बंद है।

आश्रम की और जाने के लिए डीएनडी और बारापुला का प्रयोग करेंI यह ट्वीट दिल्ली ट्रैफिक पुलिस ने किया है।

ऑटो, टैक्सी सहित लो फ्लोर बसों पर संकट

बारिश के दौरान दिल्ली की सड़कों पर जल भराव की वजह से ऑटो, टैक्सी सहित लो फ्लोर बस चालकों को भी और अधिक सतर्क रहने की जरूरत है। मिंटो ब्रिज पर हुए हादसे के बाद हादसे की आशंका वाले सौ से अधिक जगहों पर गुजरने वाले वाहन भी खुद के बचाव के लिए सतर्कता बरत रहे हैं।

पानी की निकासी के लिए काम करेगा पीडब्ल्यूडी

राजधानी दिल्ली में मानसून की झमाझम बारिश को देखते हुए अब लोक निर्माण विभाग (पीडीब्ल्यूडी) व यातायात पुलिस मिलकर काम करेंगे। जिससे जल भराव जैसी समस्या से निपटने के साथ साथ यातायात को भी सुगम तरीके से चलाया जा सके। जल भराव वाले क्षेत्रों में पीडब्ल्यूडी यातायात विभाग के अधिकारियों के संपर्क में रहकर रूट डायवर्ट कर पानी की निकासी करेगा।

इससे पहले रविवार की से हुई परेशानी से पीडब्ल्यूडी व यातायात पुलिस को साथ मिलकर काम करने को कहा गया है। जिसके चलते जल भाराव वाले क्षेत्रों की पहचान कर ली गई है। जिससे संबंधित इलाकों में संबंधित इलाके के अधिशासी अभियंता स्थानीय इलाके के यातायात निरीक्षक से एक पद ऊपर व उपनीरक्षक पद तक के अधिकारियों के संपर्क में रहेंगे।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...