1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. Weather Forecast: गर्मी ने हाल किए बेहाल, जानिए मौसम के बारे में नए अपडेट

Weather Forecast: गर्मी ने हाल किए बेहाल, जानिए मौसम के बारे में नए अपडेट

गर्मी का मौसम शुरू होते ही लू का चलना भी शुरू हो चुका है, जिसकी वजह से कई राज्यों में गर्मी की वजह से हाल बेहाल हो चुके हैं। जानिए देशभर के तमाम राज्य बढ़ती गर्मी को लेकर क्या दंश झेल रहे हैं और कहां तापमान कैसा है?

By Manali Rastogi 
Updated Date

नई दिल्ली: गर्मी का मौसम शुरू हो चुका है। ऐसे में उत्तर भारत के मैदानी इलाके लू का सामना कर रहे हैं। इस बीच भारत मौसम विभाग का कहना है कि अगले दो दिनों में मैदानी इलाकों वाले राज्यों को गर्मी से थोड़ी राहत मिलने की उम्मीद है। विभाग के मुताबिक, 5 डिग्री तक तापमान अगले 3 दिनों में गिरने की संभावना है। हालांकि, बहुत ही कम समय के लिए मैदानी इलाकों को ये राहत मिलेगी। ऐसे में लू चलने का सिलसिला तीन अप्रैल से शुरु हो जाएगा। बता दें कि देश के कई प्रदेश पिछले सप्ताह गर्मी से बेहाल थे। इसके चलते ओडिशा में 44 डिग्री के पार तापमान पहुंच गया।

पढ़ें :- Delhi corona virus update: दिल्ली में कोरोना की रफ्तार थमी, 24 घंटे में मिले 9,197 संक्रमित

ओडिशा के अलावा पिछले सप्ताह राजस्थान में तापमान 43 डिग्री सेल्सियस तक रहा। वहीं, भारत मौसम विज्ञान विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र का कहना है कि गुजरात से हरियाणा तक क्षेत्रों के बीच दबाव भिन्नता रही। इस बीच पहले से ही लू का सामना कर रहे राजस्थान से भी गर्मी स्थानांतरित हुई है। यही नहीं, मौसम विभाग के वरिष्ठ वैज्ञानिक एवं लू विशेषज्ञ नरेश कुमार का कहना है कि गर्मी पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान से भी स्थानांतरित हुई। मालूम हो, 45 डिग्री सेल्सियस तापमान इस दौरान पाकिस्तान के एक मौसम केंद्र में दर्ज किया गया।

अपनी बात को जारी रखते हुए कुमार ने बताया कि मैदानी इलाकों में पश्चिमी विक्षोभ भी नमी लेकर नहीं आ पाया, जिसकी वजह से तापमान में वृद्धि दर्ज की गयी है। ऐसे में मौसम विभाग के मुताबिक, ‘अगले दो दिन में उत्तर भारत के मैदानी इलाकों में तापमान में 3 से 5 डिग्री सेल्सियस तक की गिरावट की संभावना है, जिससे लू से राहत मिलने की संभावना है।’ वहीं, आज राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, पूर्वी उत्तर प्रदेश, झारखंड और पश्चिम बंगाल में मौसम विभाग के मुताबिक धूल भरी हवाएं (30-40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से) चलने के आसार हैं। इसके अलावा दक्षिण भारत के अधिकतर हिस्सों, पूर्वी भारत के कुछ हिस्सों, पूर्वोत्तर आदि क्षेत्रों में अधिकतम तापमान के सामान्य स्तर से कम रहने का अनुमान आईएमडी ने लगाया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...