पश्चिम बंगाल: CAA के समर्थन में रैली निकालने पर BJP नेता विजयवर्गीय लिए गये हिरासत में

kailash-vijayvargiya
पश्चिम बंगाल: CAA के समर्थन में रैली निकालने पर BJP नेता विजयवर्गीय लिए गये हिरासत में

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी शुरूवात से ही नागरिकता संशोधित कानून का विरोध कर रही हैं और उन्होने दावा किया है कि किसी भी हालत में पश्चिम बंगाल के अंदर ये कानून नही लागू होगा। इसके खिलाफ लगातार ममता बनर्जी रैलियां भी कर रही हैं। वहीं दूसरी तरफ बीजेपी सीएए के समर्थन में सभाएं कर रही है। जब बीजेपी के पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय अपने समर्थकों के साथ रैली करने पंहुचे तो उन्हे हिरासत में ले लिया गया।

West Bengal Bjp Leader Vijayvargiya Detained After Taking Out Rally In Support Of Caa :

बताया गया कि विजयवर्गीय की अगुआई में बीजेपी के अन्य नेता और कार्यकर्ता टॉलीगंज से ही CAA समर्थन रैली की शुरुआत करने वाले थे। तभी उन्हे हिरासत में ले लिया गया। पुलिस ने अनुसार, ‘बीजेपी नेता पुलिस की अनुमति के बिना कथित रूप से मार्च का आयोजन कर रहे थे। जिसके कारण उन्‍हें पुलिस वैन में हिरासत में लिया गया और उस जगह से दूर ले जाया गया।

कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट किया, ‘कोलकाता में आज सीएए के समर्थन में मेरी रैली थी। पुलिस ने मुझे और मुकुल रॉय को गिरफ्तार कर लिया है और लाल बाज़ार पुलिस हेडक्वार्टर ले जा रहे हैं। संसद में पारित किसी कानून के समर्थन में रैली करना कौनसा अपराध है, जो हमें गिरफ्तार किया गया?

कैलाश विजयवर्गीय ने एक अन्‍य ट्वीट किया, ‘लोकतंत्र या मजाक! पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने लोकतंत्र को मजाक बना दिया है। यहां कानून की बात करना भी अपराध बन गया। आज जब मैं और मुकुल रॉय जी कोलकाता में सीएए के समर्थन में रैली करने पहुंचे तो हमें गिरफ्तार कर लिया गया। ये कौनसा अपराध है?

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी शुरूवात से ही नागरिकता संशोधित कानून का विरोध कर रही हैं और उन्होने दावा किया है कि किसी भी हालत में पश्चिम बंगाल के अंदर ये कानून नही लागू होगा। इसके खिलाफ लगातार ममता बनर्जी रैलियां भी कर रही हैं। वहीं दूसरी तरफ बीजेपी सीएए के समर्थन में सभाएं कर रही है। जब बीजेपी के पश्चिम बंगाल प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय अपने समर्थकों के साथ रैली करने पंहुचे तो उन्हे हिरासत में ले लिया गया। बताया गया कि विजयवर्गीय की अगुआई में बीजेपी के अन्य नेता और कार्यकर्ता टॉलीगंज से ही CAA समर्थन रैली की शुरुआत करने वाले थे। तभी उन्हे हिरासत में ले लिया गया। पुलिस ने अनुसार, 'बीजेपी नेता पुलिस की अनुमति के बिना कथित रूप से मार्च का आयोजन कर रहे थे। जिसके कारण उन्‍हें पुलिस वैन में हिरासत में लिया गया और उस जगह से दूर ले जाया गया। कैलाश विजयवर्गीय ने ट्वीट किया, 'कोलकाता में आज सीएए के समर्थन में मेरी रैली थी। पुलिस ने मुझे और मुकुल रॉय को गिरफ्तार कर लिया है और लाल बाज़ार पुलिस हेडक्वार्टर ले जा रहे हैं। संसद में पारित किसी कानून के समर्थन में रैली करना कौनसा अपराध है, जो हमें गिरफ्तार किया गया? कैलाश विजयवर्गीय ने एक अन्‍य ट्वीट किया, 'लोकतंत्र या मजाक! पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने लोकतंत्र को मजाक बना दिया है। यहां कानून की बात करना भी अपराध बन गया। आज जब मैं और मुकुल रॉय जी कोलकाता में सीएए के समर्थन में रैली करने पहुंचे तो हमें गिरफ्तार कर लिया गया। ये कौनसा अपराध है?