‘पद्मावती’ के स्वागत को तैयार हैं ममता बनर्जी, बोली- रिलीज के लिये खास इंतजाम भी कर देंगे

mamta-banarjee-padmawati

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी राज्य में निर्देशक संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ का स्वागत करने के लिए तैयार हैं। ममता ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा, “अगर संजय लीला भंसाली फिल्म पद्मावती को कहीं प्रदर्शित नहीं कर सकते, तो हम उनका स्वागत करते हैं। इसके लिये हम खास इंतजाम भी कर देंगे।” उन्होंने कहा, बंगाल ऐसा कर बहुत खुश होगा।

West Bengal Cm Mamata Banerjee Welcomes The Movie Padmavati :

देशभर में फिल्म की रिलीज का कई संगठन विरोध कर रहे हैं। संगठनों ने भंसाली पर ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया है। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने 22 नवंबर को घोषित किया कि उनकी सरकार राज्य में होने वाले चुनावों के मद्देनजर ‘पद्मावती’ को रिलीज करने की अनुमति नहीं देगी।

इससे पहले मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी राजपूत रानी पद्मावती के जीवन पर बनी फिल्म को राज्य में रिलीज नहीं होने देने की घोषणा कर चुके हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फिल्म के निर्देशक को राजपूत समुदाय की भावना से खिलवाड़ करने वाला बताया है, वहीं राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने फिल्म से आपत्तिजनक दृश्यों को हटाए जाने की मांग की है।

बता दें कि संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती निर्माण के समय से ही लगातार विवादों में हैं। देश के अलग-अलग हिस्सों में राजपूत और हिंदू संगठन लगातार फिल्म के विरोध कर रहे हैं। उधर, अब कई राज्य सरकारों ने भी फिल्म का विरोध करना शुरू कर दिया है। देश के कई राज्यों में फिल्म को लेकर हिंसकर प्रदर्शन भी हुए। जिसके बाद फिल्म निर्माताओं ने भी बढ़ते विवाद को देखते हुए फिल्म को रिलीज करने की प्रस्तावित तारीख (1 दिसंबर) टाल दी।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी राज्य में निर्देशक संजय लीला भंसाली की फिल्म 'पद्मावती' का स्वागत करने के लिए तैयार हैं। ममता ने एक कार्यक्रम के दौरान कहा, "अगर संजय लीला भंसाली फिल्म पद्मावती को कहीं प्रदर्शित नहीं कर सकते, तो हम उनका स्वागत करते हैं। इसके लिये हम खास इंतजाम भी कर देंगे।" उन्होंने कहा, बंगाल ऐसा कर बहुत खुश होगा।देशभर में फिल्म की रिलीज का कई संगठन विरोध कर रहे हैं। संगठनों ने भंसाली पर ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया है। गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपानी ने 22 नवंबर को घोषित किया कि उनकी सरकार राज्य में होने वाले चुनावों के मद्देनजर 'पद्मावती' को रिलीज करने की अनुमति नहीं देगी।इससे पहले मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी राजपूत रानी पद्मावती के जीवन पर बनी फिल्म को राज्य में रिलीज नहीं होने देने की घोषणा कर चुके हैं। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फिल्म के निर्देशक को राजपूत समुदाय की भावना से खिलवाड़ करने वाला बताया है, वहीं राजस्थान की मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने फिल्म से आपत्तिजनक दृश्यों को हटाए जाने की मांग की है।बता दें कि संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावती निर्माण के समय से ही लगातार विवादों में हैं। देश के अलग-अलग हिस्सों में राजपूत और हिंदू संगठन लगातार फिल्म के विरोध कर रहे हैं। उधर, अब कई राज्य सरकारों ने भी फिल्म का विरोध करना शुरू कर दिया है। देश के कई राज्यों में फिल्म को लेकर हिंसकर प्रदर्शन भी हुए। जिसके बाद फिल्म निर्माताओं ने भी बढ़ते विवाद को देखते हुए फिल्म को रिलीज करने की प्रस्तावित तारीख (1 दिसंबर) टाल दी।