ममता बनर्जी ने नीति आयोग की बैठक में शामिल होने से किया इनकार, पीएम मोदी को लिखा पत्र

mamta
ममता बनर्जी ने नीति आयोग की बैठक में जाने से किया इनकार, पीएम मोदी को लिखा पत्र

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और पीएम नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार के बीच चल रही तनातनी कम होने का नाम नहीं ले रही है। इस बार ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर नीति आयोग की बैठक में जाने से इंकार कर दिया है। प्रधानमंत्री नीति आयोग के अध्यक्ष होते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को नीति आयोग के पुनर्गठन को मंजूरी दी थी।

West Bengal Cm Mamta Banerjee Will Not Attend The Meeting Of The Policy Commission :

इसके बाद 15 जून को आयोग की संचालन परिषद की पांचवी बैठक की अध्यक्षता करेंगे।  बैठक में जल प्रबंधन, कृषि और सुरक्षा से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर विचार किया जाएगा। ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को लिखे पत्र में बैठक में न जाने के कारण बताया है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि ‘राज्य की योजनाओं में मदद के लिए नीति आयोग के पास कोई वित्तीय शक्तियां नहीं हैं, थिंक टैंक की बैठक में शामिल होने का कोई फायदा नहीं है।’

बता दें कि ममता बनर्जी ने 30 मई को हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी कैबिनेट के शपथ ग्रहण समारोह में भी आने से इनकार कर दिया था। उन्होंने पश्चिम बंगाल में कथित तौर पर राजनीतिक हिंसा में मारे गए बीजेपी कार्यकर्ताओं के परिजनों को बुलाए जाने पर आपत्ति जताई थी। लोकसभा चुनाव से ही दोनों पार्टियों के बीच तनातनी चल रही है।

ममता बनर्जी ने सीबीआई और चुनाव आयोग को हथकंडा बनाने के आरोप लगाए। यही नहीं चुनाव के दौरान ही आए फोनी तूफान को लेकर ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक करने से भी इनकार कर दिया था और उन्होंने कहा था कि अब वो नए प्रधानमंत्री से मिलेंगी।

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी और पीएम नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व वाली केन्द्र सरकार के बीच चल रही तनातनी कम होने का नाम नहीं ले रही है। इस बार ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को पत्र लिखकर नीति आयोग की बैठक में जाने से इंकार कर दिया है। प्रधानमंत्री नीति आयोग के अध्यक्ष होते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को नीति आयोग के पुनर्गठन को मंजूरी दी थी। इसके बाद 15 जून को आयोग की संचालन परिषद की पांचवी बैठक की अध्यक्षता करेंगे।  बैठक में जल प्रबंधन, कृषि और सुरक्षा से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर विचार किया जाएगा। ममता बनर्जी ने पीएम मोदी को लिखे पत्र में बैठक में न जाने के कारण बताया है। उन्होंने पत्र में लिखा है कि 'राज्य की योजनाओं में मदद के लिए नीति आयोग के पास कोई वित्तीय शक्तियां नहीं हैं, थिंक टैंक की बैठक में शामिल होने का कोई फायदा नहीं है।' बता दें कि ममता बनर्जी ने 30 मई को हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी कैबिनेट के शपथ ग्रहण समारोह में भी आने से इनकार कर दिया था। उन्होंने पश्चिम बंगाल में कथित तौर पर राजनीतिक हिंसा में मारे गए बीजेपी कार्यकर्ताओं के परिजनों को बुलाए जाने पर आपत्ति जताई थी। लोकसभा चुनाव से ही दोनों पार्टियों के बीच तनातनी चल रही है। ममता बनर्जी ने सीबीआई और चुनाव आयोग को हथकंडा बनाने के आरोप लगाए। यही नहीं चुनाव के दौरान ही आए फोनी तूफान को लेकर ममता बनर्जी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बैठक करने से भी इनकार कर दिया था और उन्होंने कहा था कि अब वो नए प्रधानमंत्री से मिलेंगी।