1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. पश्चिम बंगाल के राज्यपाल डिवाइड एंड रूल पर काम कर रहे हैं, वे क्या करेंगे संविधान का पालन : ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल डिवाइड एंड रूल पर काम कर रहे हैं, वे क्या करेंगे संविधान का पालन : ममता बनर्जी

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्यपाल जगदीप धनखड़ के बीच जारी जुबानी जंग बढ़ती ही जा रही है। ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार से मांग की कि राज्यपाल को तत्काल पद से हटाया जाए। इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि वह बंगाल को डिस्टर्ब करना चाह रहे हैं। वह भ्रष्ट हैं और उनके खिलाफ हवाला जैन केस में नाम था। उनके खिलाफ चार्जशीट दायर किया गया था। वह सभी को डिक्टेट करना चाहते हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी और राज्यपाल जगदीप धनखड़ के बीच जारी जुबानी जंग बढ़ती ही जा रही है। ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार से मांग की कि राज्यपाल को तत्काल पद से हटाया जाए। इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि वह बंगाल को डिस्टर्ब करना चाह रहे हैं। वह भ्रष्ट हैं और उनके खिलाफ हवाला जैन केस में नाम था। उनके खिलाफ चार्जशीट दायर किया गया था। वह सभी को डिक्टेट करना चाहते हैं।

पढ़ें :- West Bengal News : शुभेंदु अधिकारी बोले- मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पश्चिम बंगाल को बनाया उत्तर कोरिया

ममता बनर्जी ने नबान्न में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि ऐसा राज्यपाल उन्होंने पहले कभी नहीं देखा है। उन्होंने तीन बार केंद्र सरकार से राज्यपाल को हटाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि जीटीए की जांच के पहले राज्यपाल के दौरे की जांच होनी चाहिए। वह किन लोगों को साथ लेकर उत्तर बंगाल गए थे। इसकी जांच होनी चाहिए। वह उत्तर बंगाल क्यों गए थे? फिर वहां एक नई टीम गई है। किसके साथ मुलाकात किए थे? बीजेपी एमपी, बीजेपी एमलए, क्यों अचानक उत्तर बंगाल गए? क्या उत्तर बंगाल को तोड़ना चाहते हैं। बता दें कि आज ही राज्यपाल उत्तर बंगाल के दौरे से कोलकाता लौटे हैं और जीटीए में भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है।

ममता बनर्जी ने कहा कि राज्यपाल जानबूझ कर उत्तर बंगाल को डिस्टर्ब करने की कोशिश कर रहे हैं। ममता ने कहा कि वह डिवाइड एंड रूल पर काम कर रहे हैं। बहुत से लोगों को लेकर गये थे। उन्होंने कहा कि ऐसा राज्यपाल पहले नहीं देखा था। बात करेंगे, संविधान का पालन करेंगे। उन्होंने कहा कि वह वहां जाकर बीजेपी के लोगों के साथ मुलाकात की थी और कहा था कि आप लोगों आंदोलन करें। क्या एक राज्यपाल ऐसा बोल सकता है।

हवाला जैन केस में था नाम

उन्होंने कहा कि उनका नाम हवाला जैन केस में नाम था। कोर्ट से राहत मिल गयी थी। पीआईएल दायर किया गया था। फिलहाल कोर्ट में केस लंबित हैं। वह एक भ्रष्ट आदमी हैं। वह सभी को डिक्टेट करते हैं। क्या खाएंगे, क्या पीएंगे। यह भी वह ही बताएंगे। वह कौन होते हैं? वह एक राज्यपाल हैं। वह यह देंखे कैसे केंद्र सरकार काम कर रही है ? केंद्र सरकार कभी राज्यपाल भेज रही है। तो कभी मानवधिकार आयोग भेज रही है। महामारी के दौरान भी भेज रही है। क्यों यूपी के सीएम के खिलाफ कार्रवाई नहीं हो रही है? यूपी में 100 डेड बॉडी गंगा में बहा दिया गया। बड़ा अपराध किया गया, लेकिन कोई रिकार्ड नहीं है? केवल बंगाल में अवरोध पैदा कर रहे हैं। विधानसभा चुनाव में बीजेपी हार गई है, लेकिन अभी भी हार स्वीकार नहीं कर पा रही है।

पढ़ें :- Mamta Banerjee ने विपक्षी एकता के मंसूबों पर फेरा पानी, कहा- नीतीश कुमार से बैर नहीं, कांग्रेस-लेफ्ट की खैर नहीं

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...