1. हिन्दी समाचार
  2. व्हाट्सएप जासूसी : प्रियंका गांधी बोलीं-सुरक्षा से खिलवाड़ की जांच हो, मामला गंभीर

व्हाट्सएप जासूसी : प्रियंका गांधी बोलीं-सुरक्षा से खिलवाड़ की जांच हो, मामला गंभीर

Whatsapp Espionage Priyanka Gandhi Said Messing With Security Should Be Investigated Matter Serious

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। भारत के चिन्हित पत्रकारों और एक्टिविस्ट की व्हाट्सएप के द्वारा जासूसी मामला तूल पकड़ता जा रहा है। विपक्ष इसको लेकर केंद्र सरकार पर लगातार निशाना साध रहा है। अब कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि, व्हाट्सएप जासूसी मामला अगर सच है तो ये मानाविधकार और राष्ट्रीय सुरक्षा का उल्लंघन है, सरकार को इसपर जवाब देना चाहिए।

पढ़ें :- टीम इंडिया ने तोड़ा ऑस्ट्रेलिया का घमंड, जानिए जीत क्यों है महत्वपूर्ण...

प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर मोदी सरकार को व्हाट्सएप जासूसी मामले में निशाना साधा है। उन्होंने ​कहा है कि, ‘अगर भारतीय जनता पार्टी या सरकार इजरायली एजेंसियों के द्वारा भारतीय पत्रकारों, वकीलों, एक्टिविस्ट और नेताओं के फोन की जासूसी करने में शामिल है तो ये मानवाधिकार का उल्लंघन और राष्ट्रीय सुरक्षा से समझौता है। केंद्र सरकार को इसपर जवाब देना चाहिए’।

पढ़ें :- सोनौली:राम जन्मभूमि मंदिर निर्माण के लिए निकाली रथयात्रा, लगे जय श्रीराम के जयकारे

वहीं, कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी समेत अन्य विपक्षी दलों ने भी इसको आड़े हाथों में लिया है। वहीं, केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से इसे सरकार को बदनाम करने की साजिश करार दिया गया है। राहुल ने अपने ट्वीट में लिखा था कि सरकार का इजरायली एजेंसी से व्हाट्सएप मुद्दे पर जवाब मांगना कुछ वैसा ही है कि दसॉल्ट से पूछना हो कि राफेल से किसे फायदा हुआ?

गौरतलब है कि, गुरुवार को इजरायली एजेंसी द्वारा कुछ पत्रकारों, वकील, एक्टिविस्ट की जासूसी की बात सामने आई थी। जिसके बाद राजनीतिक घमासान मचा हुआ है, इस सबके बीच IT मंत्रालय ने व्हाट्सएप से इस मामले में 4 नवंबर तक जवाब मांगा है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...