WhatsApp चला रहे है तो जरूर पढ़ें ये खबर, नहीं तो जा सकते है जेल

Whatsapp New Rule By Law Police Dekh Rahi Aap Ke Whatsaap

वाराणसी। सोशल मीडिया पर भड़काऊ बाते शेयर कर लोग समाज में अफवाह और भ्रम तेज़ी से पैदा कर रहे है। इसके लिए वाट्सऐप भी बेहद ही सटीक माध्यमों में से एक है। इस पर लगाम लगाने के लिए वाराणसी के जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने एक आदेश जारी किया है। आदेश के अनुसार एडमिन वही बने जो ग्रुप की जिम्मेदारी उठाने में सक्षम हो। अगर ग्रुप में कुछ भी गलत परोसा जा रहा है तो संबंधित व्यक्ति के साथ ही ग्रुप एडमिन पर भी कडी कार्रवाई की जाएगी।



जिलाधिकारी योगेश्वर राम मिश्रा और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नितिन तिवारी द्वारा संयुक्त रूप से जारी आदेश में कहा गया है कि अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता अत्यंत महत्वपूर्ण है। तथा सोशल मीडिया पर स्वतंत्रता के साथ ही जिम्मेदारी भी आवश्यक है। आदेश में कहा गया है कि एडमिन वही बने जो उस ग्रुप की पूरी जिम्मेदारी उठाने में समर्थ हो, और ग्रुप के सभी सदस्यों से परिचित हो। कोई सदस्य गलत बयान, बिना पुष्टि के ख़बर जो अफवाह बन जाये, पोस्ट करता है तो एडमिन खंडन के साथ ऐसे सदस्य को फौरन ग्रुप से हटाये। अफवाह भ्रामक तथ्य व सामाजिक समरसता के विरूद्ध पोस्ट होने पर फौरन सम्बधित थाने को सूचित करे। ग्रुप एडमिन के कार्रवाई न करने पर उन्हें भी इसका दोषी माना जायेगा और उन्के विरूद्ध भी कार्रवाई की जायेगी। ऐसे मामलों में कड़ी कार्रवाई की जायेगी।

वाराणसी। सोशल मीडिया पर भड़काऊ बाते शेयर कर लोग समाज में अफवाह और भ्रम तेज़ी से पैदा कर रहे है। इसके लिए वाट्सऐप भी बेहद ही सटीक माध्यमों में से एक है। इस पर लगाम लगाने के लिए वाराणसी के जिलाधिकारी व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने एक आदेश जारी किया है। आदेश के अनुसार एडमिन वही बने जो ग्रुप की जिम्मेदारी उठाने में सक्षम हो। अगर ग्रुप में कुछ भी गलत परोसा जा रहा है तो संबंधित व्यक्ति के साथ…