1. हिन्दी समाचार
  2. बॉलीवुड
  3. जब स्वतंत्रता सेनानियों को फांसी दी थी तब कई लोग मूकदर्शक थे, कंगना के सपोर्ट में आए विक्रम गोखले

जब स्वतंत्रता सेनानियों को फांसी दी थी तब कई लोग मूकदर्शक थे, कंगना के सपोर्ट में आए विक्रम गोखले

बॉलीवुड एलट्रेस कंगना रनौत अपने 1947 में भीख में मिली आजादी के बयान पर बवाल बढ़ता ही जा रहा है। दरअसल काही दिग्गज नेता और कई टीवी स्टार्स उनके इस बयान को लेकर उनपर भड़क गए हैं। यहां तक उनसे पद्मश्री वापस लेने की मांग भी कर रहें हैं। जहां बीते दिन सिंगर विशाल दादलानी ने उन्हे भगत सिंह के बलिदान को याद दिला कंगना को निशाना बनाया था, वहीं आज दिग्गज एक्टर विक्रम गोखले कंगना का सपोर्ट करते नजर आए। 

By आराधना शर्मा 
Updated Date

 Bollywood news: बॉलीवुड एलट्रेस कंगना रनौत (Kangana Ranaut) अपने 1947 में भीख में मिली आजादी के बयान पर बवाल बढ़ता ही जा रहा है। दरअसल काही दिग्गज नेता और कई टीवी स्टार्स उनके इस बयान को लेकर उनपर भड़क गए हैं। यहां तक उनसे पद्मश्री वापस (Padmashree back) लेने की मांग भी कर रहें हैं।

पढ़ें :- Delhi Assembly Panel में Kangana के पेशन होने का समन जारी, सिख समाज को लेकर की थी अपमानजनक टिप्पणी

जहां बीते दिन सिंगर विशाल ददलानी (Singer Vishal Dadlani) ने उन्हे भगत सिंह के बलिदान को याद दिला कंगना (Kangana Ranaut) को निशाना बनाया था, वहीं आज दिग्गज एक्टर विक्रम गोखले (Vikram Gokhale) कंगना का सपोर्ट करते नजर आए।

आपको बता दें, मराठी  एक्टर विक्रम गोखले (Vikram Gokhale) ने कंगना का सपोर्ट करते हुए कहा वह देश के स्वतंत्रता आंदोलन पर कंगना (Kangana Ranaut)  के विवादित बयान से सहमत हैं। गोखले, ने भीख में मिली वाले बयान पर कंगना (Kangana Ranaut) के उस विवादित कमेंट का सपोर्ट में बोल रहे थे, जिसमें उन्होंने कहा था कि भारत ने 1947 में जो आजादी हासिल की वह भीख थी, लेकिन देश को असली आजादी 2014 में ही मिली जब नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने।

(Vikram Gokhale) ने आगे कहा- मैं रनौत के बयान से सहमत हूं। हमें आजादी दी गई थी। ब्रिटिश राज के दौरान जब स्वतंत्रता सेनानियों को फांसी दी गई थी, तब कई लोग सिर्फ मूकदर्शक थे। इन मूक दर्शकों में कई वरिष्ठ नेता शामिल थे। उन्होंने स्वतंत्रता सेनानियों को नहीं बचाया जो उनके खिलाफ लड़ रहे थे।

गोखले ने महाराष्ट्र में राजनीतिक परिदृश्य पर बोलते हुए कहा कि पूर्व सहयोगी शिवसेना और भाजपा को देश की बेहतरी के लिए फिर से एक साथ आना चाहिए। आगे यह भी कहा कि भाजपा समेत हर राजनीतिक दल विवादों से फायदा उठाने की कोशिश करता है।

पढ़ें :- Mani Shankar Aiyar का आजादी पर नया ज्ञान, कहा- 2014 से देश अमेरिका का गुलाम
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...